उत्तरायणी कौतिक: बागनाथ में लोकगायकों के गीतों पर थिरके दर्शक

प्रहलाद मेहरा व इंदर आर्या के नाम रही स्टार नाइट नान स्टाप गीतों की झड़ी ने भुला दिया ठंड का असर सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: उत्तरायणी…

प्रहलाद मेहरा व इंदर आर्या के नाम रही स्टार नाइट

नान स्टाप गीतों की झड़ी ने भुला दिया ठंड का असर

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: उत्तरायणी कौतिक की शान कही जाने वाली स्टार नाइट बदस्तूर जारी है। शुक्रवार की रात लोक गायक प्रहलाद मेहरा व इंदर आर्या के नाम रही। दोनों ही कलाकारों ने लोगों का जमकर मनोरंजन किया। ठंड के बावजूद देर रात तक दर्शक जमे रहे। चंदना मेरो पहाड़ आए गीत प्रहलाद ने लोगों की फरमाइश पर सुनाया। इस पर दर्शक भी नाचते रहे।

नुमाईशखेत मैदान में बने रंगमंच पर शुक्रवार की रात जैसे ही प्रह्लाद मंच पर पहुंचे लोगों ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया। देव स्तुति के साथ उन्होंने कार्यक्रम शुरू किया। इसके बाद उन्होंने चांदी बटन दाज्य कुर्ती कॉलर में, कां छू तेरा जलेबी क डाब समेत कई नॉन स्टॉप गीत सुनाए। मंच पर दूसरे कलाकार के रूप ने भी मेरो मॉडल कुमाऊं, लाल बोतल शराबा तू छै बड़ी खराबा, कैले बाजे मुरुलि आदि गीत गाकर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। मंगल चौहान ने जहां बेहतरीन एकल डांस किया वहीं चुटकुले सुनाकर दर्शकों को जमकर हंसाया। चंद्रकला वीरेंद्र दानू तथा आनंद कोरंगा ने भी अपने फन का जादू बिखेरा। आनंद कोरंगा ने अपना प्रसिद्ध गीत हेमा ह्यू पड़ो गैल भनारा सुनाया। कार्यक्रम देखने के लिए नगर पालिकाध्यक्ष सुरेश खेतवाल, मेलाधिकारी हरगिरी, दीपक खेतवाल समेत मेला समिति के लोग जमे रहे। नुमाइखेत मैदान में शनिवार को उत्तरायणी मेले के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम मची रही। स्कूली बच्चों ने धमाल मचाया और सांस्कृतिक दलों ने भी शानदार प्रस्तुति से मेलार्थियों का भरपूर मनोरंजन किया।

मेले के आठवें दिवस सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। मौसम साफ होने से मेलार्थी देर शाम तक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद उठाते रहे। सरस्वती शिशु मंदिर इंटर कालेज, महर्षि विद्या मंदिर मंडलसेरा, नेशनल मिशन इंटर कालेज, गायत्री विद्या मंदिर घिंघारुतोला के बच्चों ने हिंदी, पंजाबी, कुमाऊंनी, गढ़वाली गीतों से समां बांध दिया। उन्होंने सामाजिक बुराई से दूर रहने वाले गीत भी गाए। इसके अलावा रंगीली नाकुरी, जन कल्याण समिति कुंवारी, साहस संगीत विद्यालय के बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम पेश किए। दिव्यांग दीपक कुमार सुयाल के गीतों पर दर्शकों ने जमकर आनंद उठाया।