Big Breaking : इंसान में पाया गया छिपकली व गिरगिट वाला येलो फंगस, ब्लैक और व्हाइट फंगस के बाद नई बला, देश में पहला मामला

सीएनई रिपोर्टर दिल्ली। ब्लैक और व्हाइट फंगस की कहानी अभी ठीक से समझ नही आई है, वहीं इस बीच एक येलो फंगस का केस सामने…

सीएनई रिपोर्टर

दिल्ली। ब्लैक और व्हाइट फंगस की कहानी अभी ठीक से समझ नही आई है, वहीं इस बीच एक येलो फंगस का केस सामने आने से चिकित्सकों को हैरान कर दिया है। हैरानी का सबसे बड़ा कारण तो यह है कि इस तरह का येलो फंगस इंसान में नही, ​बल्कि छिपकली और गिरगिट में इससे पहले मिला करता था।

आपको बता दें गाजियाबाद के एक अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीज में इस तरह के नए फंगस की पुष्टि हुई है। यह मरीज 45 साल के हैं तथा इन्हें शूगर की भी दिक्कत है।

उत्तराखंड ब्रेकिंग : कोरोना की स्थिति में सुधार, आज मिले 2071 नए केस, 7051 मरीज हुए डिस्चार्ज

इलाज करने वाले डॉक्टर बीपी त्यागी ने बताया कि 45 वर्षीय मरीज पहले कोरोना संक्रमित हुए थे और वह डायबिटीज से भी पीड़ित हैं। 

मरीज के उपचार में जुटे संबंधित डॉक्टर ने बताया कि अभी तक यह येलो फंगस छिपकली और गिरगिट जैसे जीवों में पाया जाता था। जिस रेपटाइल को यह फंगस होता है वह जिंदा नहीं बचता इसलिए इसे बेहद खतरनाक और जानलेवा माना जाता है। पहली बार किसी इंसान में यह फंगस मिला है।

उत्तराखंड में सख्त हुए कोरोना कर्फ्यू के नियम, विस्तार से पढ़े Full SOP

डॉक्टर के अनुसार येलो फंगस गंदगी के कारण होता है। यह फंगस सामान्य रूप से जमीन पर पाया जाता है। छिपकली और गिरगिट जैसे जिस जीव की रोग निरोधक क्षमता कम होती है यह उसे असर करता है और कमजोर कर के जानलेवा तक बन जाता है।

डॉक्टरों का अनुमान है कि कोरोना के कारण अब इंसानों की इम्युनिटी कमजोर हो रही है इसलिए यह फंगस उन्हें चपेट में ले रहा है।

Uttarakhand : महिला जिसे समझ रही थी रिश्ते का भाई, वह साइबर ठग निकला, खाते से साफ हुए 70 हजार

चिकित्सकों के अनुसार ऐलो फंगस के प्रमुख लक्षणों में नाक का बंद होना, शरीर के अंगों का सुन्न होना, शरीर में टूटन होना और दर्द होना, अत्यधिक कमजोरी होना, हार्ट रेट का बढ़ जाना, शरीर में घावों से मवाद बहना और शरीर कुपोषित सा दिखाई देना प्रमुख हैं।

Breaking: मुंबई में दुर्घटनाग्रस्त बार्ज में बागेश्वर जिले के दो युवक, एक का शव मिला और दूसरा लापता, अपने घर का इकलौता चिराग था मृतक

Uttarakhand : प्रदेश में 01 जून तक बढ़ाया गया कोविड कर्फ़्यू , दुकानों की खुलने की अवधि बढ़ी, पढ़िये आदेश में क्या है नया….

कोरोना संक्रमित बागेश्वर के जिला समाज कल्याण अधिकारी का निधन, सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में ली अंतिम सांस

हमारे WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

Breaking News : सभी अस्पतालों को हर दिन देने होंगे कोरोना से हो रही मौतों के आंकड़े, दोबारा जारी हुए सख्त निर्देश, बहुत देर से मिली 355 मौतों की डिटेल

राजस्थान के दो जिलों में लगभग 21 दिनों के भीतर 600 से अधिक बच्चे कोरोना संक्रमित, तीसरी लहर की दस्तक का अंदेशा, देश भर में आंकड़े जुटाने की जरूरत….