अल्मोड़ा: डीएम वंदना के साथ चली प्रशासन की पूरी टीम, योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण

— जिला मुख्यालय से दूर स्थित क्षेत्रों में किया गहन निरीक्षण, समस्याएं सुनीं सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिलाधिकारी वंदना के नेतृत्व में आज जिला प्रशासन की…

— जिला मुख्यालय से दूर स्थित क्षेत्रों में किया गहन निरीक्षण, समस्याएं सुनीं

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिलाधिकारी वंदना के नेतृत्व में आज जिला प्रशासन की टीम जिले की तहसील चौखुटिया तथा द्वाराहाट के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंची, जहां कई योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण हुआ और भ्रमण करते हुए जनसमस्याएं सुनी गई।

सर्वप्रथम जिलाधिकारी ने विकासखंड चौखुटिया के ग्राम भनौटिया में बने सोलर पंपिंग योजना का निरीक्षण किया और योजना के अनुरक्षण, रखरखाव व अन्य जानकारियां प्राप्त की। इस सोलर पंपिंग योजना पहल की सराहना करते हुए डीएम ने योजना के अनुरक्षण को लेकर आवश्यक निर्देश दिए। उनहोंने कहा कि योजना का अनुरक्षण ग्राम सभा रोस्टर बनाकर करे। साथ ही इस प्रकार के मॉड्यूल में निर्माण संबंधी कार्य मनरेगा के माध्यम से कराया जाए। संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि एकल योजना को जल जीवन मिशन के जरिये किसी एकल गांव के लिए बनाने पर विचार किया जाए। यहां ग्रामीणों द्वारा सिंचाई की सुविधा की मांग की गई। इस पर जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि भेईगंज बांध से पाइप लाइन के माध्यम से सिंचाई की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। ग्रामीणों ने गांव की अन्य समस्याओं से संबंधित ज्ञापन भी जिलाधिकारी को सौंपा।

इसके बाद जिलाधिकारी राजकीय बालिका इंटर कॉलेज चौखुटिया पहुंची और वहां निरीक्षण किया। उन्होंने विद्यालय में निर्माणाधीन भवनों के बारे में विभिन्न जानकारी लेते हुए संबंधित अधिकारियों को कार्यों की गुणवत्ता एवं समयसीमा के तहत कार्य करने के निर्देश दिए। वहीं पास स्थित सिंचाई गूल के कारण विद्यालय परिसर में पानी के रिसाव के समाधान के लिए सिंचाई विभाग को निर्देश दिए कि भूपरीक्षण कराकर इसका समाधान निकाला जाए। जिलाधिकारी ने अध्ययनरत छात्राओं से वार्तालाप किया। साथ ही मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि विद्यालय में कोई भी विषय बिना शिक्षक के नहीं रहने पाए। इसके लिए उन्होंने कहा कि या तो प्रवक्ता अथवा सहायक अध्यापक की तैनाती कर समायोजन के आधार पर व्यवस्था करें।

तत्पश्चात प्रशासनिक टीम ने विश्व बैंक के माध्यम से बन रहे भटकोट-झाला पुल का निरीक्षण किया। जहां जिलाधिकारी ने जानकारियां प्राप्त कर संबंधित अधिकारियों को कार्यों को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। इसके बाद डीएम ने ने मासी पहुंचकर भूमिया मंदिर में पूजा—अर्चना की और जनपदवासियों की सुख—समृद्धि की कामना की। उन्होंने मंदिर परिसर में ही ग्राम चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी तथा व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ कूड़ा प्रबंधन के संबंध में बैठक की। यहां पर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के सम्मुख बिजली, सिंचाई, भू कटाव जैसी विभिन्न समस्याएं रखी। जिलाधिकारी ने एक एक कर सभी समस्याओं को सुना तथा इन समस्याओं के त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। जिलाधिकारी ने बैठक में ग्रामीणों एवं व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से कूड़े का सोर्स सेग्रीगेशन करने की अपील की। जिलाधिकारी ने कहा कि यदि कूड़े का सोर्स सेग्रीगेशन होगा, तो गीले एवं सूखे कूड़े का निस्तारण आसान होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि कूड़े को अलग—अलग करके निस्तारण करने में जिला प्रशासन पूरी तरह तत्पर है।
इस दौरान ब्लॉक प्रमुख चौखुटिया किरण बिष्ट, उप जिलाधिकारी जयवर्धन शर्मा समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।