Bageshwar: इस वर्ष अब तक 37 नशा तस्करों से 32 किग्रा चरस बरामद

— गत वर्ष से काफी कम मात्रा में स्मैक पकड़ पाई पुलिस— नशे के जाल ने बढ़ाई समाजसेवियों व नागरिकों की चिंता सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वरजनपद…


— गत वर्ष से काफी कम मात्रा में स्मैक पकड़ पाई पुलिस
— नशे के जाल ने बढ़ाई समाजसेवियों व नागरिकों की चिंता

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर
जनपद में स्मैक व अन्य मादक पदार्थों की तस्करी व धंधों से हर जागरूक नागरिक चिंतित है। समाजसेवियों समेत राजनैतिक विचारधारा के लोग भी इसके खिलाफ आवाज उठाते आ रहे हैं। पुलिस के आंकड़ों पर नजर डालें, तो वर्ष 2022 में अब तक पुलिस ने 37 तस्करों से 32 किग्रा चरस बरामद की है, जबकि गत वर्ष चरस के मामलों में 35 लोगों को गिरफ्तार कर 8 किग्रा चरस बरामद हुई थी और स्मैक की मात्रा 174 ग्राम थी।

अब जनपद में स्मैक का प्रचलन काफी अधिक देखा जा रहा है। कई मंदिर, पार्क, शांत रोडें ऐसी हैं, जहां पर नशा करते युवक देखे जा सकते हैं। पिछले दिनों एक मामले में स्मैक में कतिपय किशोरियों के लिप्त पाए जाने की बात प्रकाश में आई है। इससे चिंता और बढ़ गई हैं। जागरूक लोगों के मन को इस चिंता ने झकझोरा है। जिससे प्रभारी मंत्री सौरभ बहुगुणा की बैठक में भी मामला उछला तथा उन्होंने पुलिस को इस पर विशेष ध्यान देने की बात कही, किंतु अब तक पुलिस इन निर्देश के क्रम में कोई विशेष उपलब्धि हासिल नहीं कर पाई है।

पुलिस के आंकड़ों की बात करें, तो वर्ष 2021 में जनपद में एनडीपीएस के 35 मामले पकड़े गए, इनमें 35 लोग गिरफ्तार हुए और 35 किग्रा चरस व 174 ग्राम स्मैक बरामद हो सकी।अब वर्ष 2022 भी समाप्ति की ओर है, इस साल का सिर्फ एक माह बांकी है। अब तक मात्र 95 ग्राम स्मैक बरामद हो पाई है, वह भी तब जब स्मैक का धंधा फूलता—फलता प्रतीत हो रहा है। इस बार कतिपय किशोरियों के भी स्मैक का शौक फरमाने की बात सामने आ चुकी है। एक ओर आम नागरिक, राजनैतिक दलों के कार्यकर्ता व प्रभारी मंत्री समेत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बाल कल्याण समिति स्मैक के नशे का प्रचलन बढ़ने से चिंतित हैं और यह मामला मंथन का बना है। दूसरी तरफ पुलिस की मामले पर सुस्ती। ऐसे में नशा रोकना पुलिस के लिए चुनौती साबित हो रहा है।
तीन थानों पर प्रश्नचिह्न

बागेश्वर: जनपद में स्मैक के पकड़े गए मामलों पर गौर फरमाया जाए, तो अधिकांश मामले बागेश्वर थाना पुलिस के हैं जबकि बैजनाथ, झिरौली, कांडा थाना पुलिस को स्मैक के शौकीनों व धंधेबाजों तक पहुंचने में खास सफलता अर्जित नहीं कर पाई है। वह भी तक जब इन्हीं क्षेत्रों में स्मैक का धंधा ज्यादा फलने—फूलने की चर्चाएं हैं।
नशे के खिलाफ अभियान जारी रहेगा—एसपी

बागेश्वर के पुलिस अधीक्षक हिमांशु वर्मा का कहना है कि जिले में नशे के खिलाफ व्यापक अभियान चला है। जिसमें अब तक कई सफलताएं भी मिली हैं। आगे भी नशे के खिलाफ पुलिस का अभियान जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि जनपद के सभी चौकी व थाना प्रभारियों को नियमित चेकिंग करने व पैनी निगाह रखने के सख्त निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *