अल्मोड़ा: अब संघर्ष के मूड में आए बेरोजगार डिप्लोमा फार्मासिस्ट

👉 पद सृजन व नियुक्ति की राह नहीं खुलने से खिन्न👉 एसोसिएशन बुनने लगा संघर्ष की रणनीति का ताना—बाना सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: डिप्लोमा बेरोजगार फार्मासिस्ट…

अब संघर्ष के मूड में आए बेरोजगार डिप्लोमा फार्मासिस्ट

👉 पद सृजन व नियुक्ति की राह नहीं खुलने से खिन्न
👉 एसोसिएशन बुनने लगा संघर्ष की रणनीति का ताना—बाना

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: डिप्लोमा बेरोजगार फार्मासिस्ट एसोसिएशन अल्मोड़ा नियुक्तियों की राह खोलने के लिए अब संघर्ष के मूड में आ रहा है। जब लंबे समय के इंतजार के बाद भी कोई राह खुलती नजर आ रही, तो बेरोजगार फार्मासिस्ट अपनी रणनीति का ताना—बाना बुनने लगे हैं। इसी क्रम में आज एसोसिएशन की आनलाइन बैठक हुई। जिसमें एकजुट संघर्ष के लिए जोश भरा गया। 👇👇

ज़ूम एप्प के जरिये डिप्लोमा बेरोजगाकर फार्मासिस्ट एसोसिएशन के कई पदाधिकारी व सदस्य बैठक से जुड़े। जिसकी शुरूआत संगठन पदाधिकारी योगेश भट्ट ने की। उन्होंने कहा कि अब संघर्ष का रुख अख्तियार करना जरूरी हो गया है, क्योंकि उनकी तरफ सरकार द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा​ कि उपकेंद्रों में फार्मासिस्टों के नये पद सृजित करने और बेरोजगार फार्मासिस्टों को नियुक्ति देने के लिए एकजुट लड़ाई लड़नी होगी। उन्होंने कहा कि पहले स्वास्थ्य मंत्री से मिलकर उनके समक्ष अपनी मांगें रखी जाएंगी। 👇👇

वहीं विनोद सिंह गड़िया ने विचार रखते हुए संघर्ष के​ लिए युवा बेरोजगार फार्मासिस्टों में जोश भरा और भावी रणनीति की रुपरेखा समझाई। हरीश खाती ने विचार रखते हुए कहा कि यदि प्रदेश व्यापी आंदोलन की जरूरत पड़ी, तो हमें उसके लिए भी तैयार रहना होगा। इस संबंध में प्रांतीय नेतृत्व के साथ भी मंथन होगा। बैठक में महेंद्र जोशी व प्रकश पंत आदि समेत 119 लोग बैठक से जुड़े और कई सदस्यों ने अपने विचार रखे।