अल्मोड़ा : भनोली की मनीषा कांडपाल बनीं भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट

मनीषा कांडपाल बनीं भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट

मनीषा कांडपाल बनीं भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा। अल्मोड़ा की बेटे मनीषा कांडपाल (Manisha Kandpal) ने भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बनकर सभी को गौरवान्वित किया है। वह वर्तमान में हल्द्वानी रहती हैं।

मनीषा कांडपाल बनीं भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट

मनीषा कांडपाल का परिचय

लेफ्टिनेंट मनीषा कांडपाल ने बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई कमांड हॉस्पिटल लखनऊ से की। 04 साल की सफल ट्रेनिंग के बाद उन्हें कमीशन प्राप्त हुआ। शपथ ग्रहण के दौरान उनके परिवार से कई लोग मौजूद रहे और बेटी को भारतीय सेना की वर्दी में देखकर भावुक नजर आए। मनीषा कांडपाल मूल रूप से अल्मोड़ा जिले के भनोली की रहने वाली है।

उन्होंने हाईस्कूल और इंटर की पढ़ाई नैनीताल रोड स्थित इंस्पिरेशन स्कूल से की। साल 2019 में मनीषा को मिलिट्री नर्सिंग सर्विस की परीक्षा में कामयाबी मिली। इनके पिता तारा दत्त कांडपाल आर्मी से सेवानिवृत होने के बाद अब शिक्षक के रूप में अपनी सेवा दे रहे हैं। इनकी मां तनुजा कांडपाल एक कुशल ग्रहणी हैं।

मनीषा विशेष रूप से अपनी सफलता का श्रेय स्वर्गीय दादा प्रेम बल्लभ कांडपाल को देती हैं। इनके दादा स्वर्गीय प्रेम बल्लभ कांडपाल सदा अपनों की सेवा, खेती-बाड़ी के साथ-साथ बहुत स्वादिष्ट जलेबी बनाते थे। उन्होंने अपने माता-पिता व गुरुजनों को भी सफलता का श्रेय दिया है।

अल्मोड़ा : डोटियालगांव के गोकुल सिंह गुसाई भारतीय सेना में बने सब-लेफ्टिनेंट