राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी की कार्यशाला में शिरकत करेंगे न्यायमूर्ति चंद्रचूड़

नैनीताल | उत्तराखंड के भवाली स्थित उत्तराखंड न्यायिक एवं विधिक अकादमी (उजाला) में राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी की ओर से 30 सितम्बर और 1 अक्टूबर को…

नैनीताल | उत्तराखंड के भवाली स्थित उत्तराखंड न्यायिक एवं विधिक अकादमी (उजाला) में राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी की ओर से 30 सितम्बर और 1 अक्टूबर को आयोजित होने वाली दो दिवसीय कार्यशाला में भारत के मुख्य न्यायाधीश धनंजय वाई चंद्रचूड़ समेत 170 गणमान्य लोग शिरकत करेंगे।

इसमें न्यायमूर्ति चंद्रचूड़, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश और विभिन्न राज्यों के मुख्य न्यायाधीश तथा न्यायमूर्ति के साथ 170 प्रतिभागी शामिल होंगे।

राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी के नार्थ जोन-1 की ओर से आयोजित की जा रही है। आगामी 30 सितम्बर और 01 अक्टूबर को होने वाली दो दिवसीय कार्यशाला में भारत के मुख्य न्यायाधीश, निदेशक एपी साही, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश सुधांशु धूलिया, न्यायाधीश रवीन्द्र भट, न्यायाधीश मनोज मिश्रा शिरकत करेंगे।

इनके अलावा केरल उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश मुहम्मद मुश्ताक, जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एनके कोटिश्वर सिंह, हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एमएस चंद्र राव भी कार्यशाला में भाग लेंगे।

साथ ही विभिन्न उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश कार्यशाला में हिस्सा लेंगे जिनमें न्यायमूर्ति विजय राघवन (केरल), न्यायमूर्ति अमीश दयाल, न्यायमूर्ति अमित शर्मा, न्यायमूर्ति मनोज जैन, न्यायमूर्ति धर्मेश शर्मा (दिल्ली), न्यायमूर्ति राजेश भारद्वाज, न्यायमूर्ति संजीव प्रकाश शर्मा, न्यायमूर्ति दीपक सिब्बल (पंजाब-हरियाणा), न्यायमूर्ति सुजाय पॉल (मध्य प्रदेश) और न्यायमूर्ति त्रिलोक सिंह चौहान (हिमाचल प्रदेश) शामिल हैं।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और न्यायमूर्तिगण के साथ ही उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश विपिन सांघी और न्यायमूर्तिगण भी कार्यशाला में शामिल होगें। न्यायिक जगत से जुड़े विभिन्न आयामों पर कार्यशाला में विचार विमर्श किया जायेगा।