यहां doctor भी घबरा गये ऐसा Black fungus देख कर, देश में अब तक का पहला मामला, Read full news….

सीएनई रिपोर्टर जहां एक ओर देश में कोरोना महामारी से जंग चल रही है, वहीं Black fungus ने हाहाकार मचाना शुरू कर दिया है। हालांकि…

सीएनई रिपोर्टर

जहां एक ओर देश में कोरोना महामारी से जंग चल रही है, वहीं Black fungus ने हाहाकार मचाना शुरू कर दिया है। हालांकि अधिकांश राज्यों ने इसे माहमारी घोषित नही किया है, लेकिन जिस तरह से यह इन्फेक्शन रफ्तार पकड़ रहा है उम्मीद की जा रही है कि हर प्रभावित राज्य से भी महामारी घोषित कर देगा।

उत्तराखंड ब्रेकिंग : घर में मृत अवस्था में मिली कोरोना पॉजिटिव वृद्धा, बंधे हुए थे हाथ-पांव, हत्या की आशंका

इस बीच देश में Black fungus के दो ऐसे मामले सामने आये हैं, जिसको देख कर डॉक्टरों की चिंता बढ़ गई है। पहला मामला सूरत से आया है, जहां पहली बार एक व्यक्ति के दिमाग तक पहुंच गया, जिससे उसकी चार दिन के भीतर मौत हो गई है। आखिर यह फंगस मरीज के दिमाग में कैसे घुसा इसका जवाब फिलहाल किसी चिकित्सक के पास नही है।

Man sad cry or strain alone on black background black & white color

वहीं दूसरा मामला भी गुजरात के Ahmedabad से है। यहां एक 14 साल का बच्चा ब्लैक फंगस से Infected हो गया है। आनन—फानन ने डॉक्टरों की टीम ने एक आपरेशन कर बच्चे के एक तरफ के दांत निकाल दिये हैं।

विस्तार से जानिये, क्या हुआ है….

दरअसल, सूरत में दिमागी Black fungus का सबसे अनोखा और पहला मामला आया है। बताया जा रहा है कि यहां एक 23 वर्षीय युवक के दिमाग में ब्लैक Fungal infection देखने को मिला, जिसे देख डॉक्टर भी घबरा गये। बीमारी का पता चलने के बाद डॉक्टरों ने मरीज की सर्जरी की लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। Surgery के चौथे दिन मरीज की मौत हो गई।

हमारे WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

इस मामले को देख डॉक्टरों में हैरानी है। उनका कहना है कि 23 वर्षीय युवक में सायनस के बजाय सीधे Brain में फंगस का प्रभाव कैसे पड़ा, यह ​medical science के समझ से परे की बात है।

उधर Ahmedabad में एक 14 साल के बच्चे में ब्लैक फंगस का भी मामला सामने आया है। बच्चे की Mukaramycosis की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद शुक्रवार को अहमदाबाद के ही एक अस्पताल में उसका operation किया गया। ऑपरेशन के दौरान बच्चे के दायीं तरफ के दांत निकलने पड़े। बच्चों में ब्लैक फंगस का ये पहला मामला है। इसे लेकर डॉक्टरों ने भी चिंता जताई है।

केंद्र ने राज्यों को दिये महामारी एक्ट के तहत नोटिफाई निर्देश
देश में कोरोना के साथ म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस के मामले हर दिन बढ़ रहे हैं। यही वजह है कि कई राज्य इसे महामारी घोषित कर चुके हैं। गत दिवस गुरुवार को ही Telangana and Tamil Nadu सरकार ने ब्लैक फंगस को Epidemic act में नोटिफाई किया है।

Uttarakhand Breaking : स्थगित हुई स्टॉफ नर्स की भर्ती परीक्षा, जल्द होगी अगली तारीख घोषित, हल्द्वानी व देहरादून बनाये थे सेंटर

जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र में 2000, दिल्ली में 300 से अधिक, हरियाणा में 177 से अधिक, यूपी में 150, राजस्थान में 400, मध्य प्रदेश में 239 तथा छत्तीसगढ़ में 100 से अधिक ब्लैक फंगस के मामले देखे गये हैं।

उत्तराखंड में भी लगातार ब्लैक फंगस फैल रहा है। यहां आये दिन इस बीमारी से लोगों की मौतें हो रही हैं। एम्स ऋषिकेश में अब तक इस बीमारी से 4 मौतें हो चुकी हैं। यहां अब तक 61 संक्रमित मिल चुके हैं। वर्तमान में 56 मरीज भर्ती हैं। एक अन्य मरीज की सितारगंज में भ मौत हो चुकी है।

Breaking News : यहां एक साल से चल रहा था Sex racket, 05 महिलाओं सहित 07 गिरफ्तार, social media के जरिये होती थी Booking

आज उत्तराखंड 8731 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, 70 की मौत, 3626 नए मामले

उत्तराखंड : Private schools के लिए जारी हुई सख्त Guidelines, Online tuition fee के अतिरक्त नही ले सकेंगे कोई अन्य fees, अन्य मद जोड़ने वालों पर होगी कार्रवाई

48 घंटे की पैरोल पर बाहर आया रेप—हत्या का आरोपी गुरूमीत राम रहीम

खतरे की घंटी है उत्तराखंडियों का रिवर्स पलायन ! सिर्फ एक माह में गांव लौटे 91 हजार से अधिक प्रवासी, क्रम लगातार जारी, अल्मोड़ा और पौड़ी में सर्वाधिक घर वापसी, आर्थिक संसाधन हीन हो गये सैकड़ों परिवार

Uttarakhand : शासन ने बढ़ाया कोविड जांच का दायर, अब हर सीएचसी, पीएचसी में मुहैया कराई जायेगी कोरोना जांच, जारी हुआ नया आदेश

Uttarakhand : सुप्रसिद्ध पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का निधन, ऋषिकेश में ली अंतिम सांस

रेप केस में ‘तहलका’ के पत्रकार तरूण तेजपाल बरी, पूरे 08 साल बाद मिली राहत, पढ़िये क्या था पूरा मामला….

कौन कर रहा विधायक महेश नेगी को Black mail, पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, 50 लाख मांग रहा कोई शख्स

अल्मोड़ा—हल्द्वानी एनएच बारिश ने बरपाया कहर, पाडली में पहाड़ से पत्थरों की हुई बरसात की चपेट में आई आल्टो कार, दस घंटे तक ब्लॉक रहा एनएच, पढ़िये पूरी ख़बर….

बागेश्वर में एक परिवार पर कहर बनकर गिरा विशालकाय पेड़, मकान जमींदोज होने से 10 वर्षीय बच्चे व महिला की दर्दनाक मौत, सात अन्य घायल, दो हालत नाजुक