5वीं तक के स्कूल बंद, दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के ऊपर

नई दिल्ली | दिल्ली की हवा इतनी जहरीली हो गई है कि 5वीं तक के स्कूलों को बंद करना पड़ गया है, इंडिया गेट, अक्षरधाम,…

5वीं तक के स्कूल बंद, दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के ऊपर

नई दिल्ली | दिल्ली की हवा इतनी जहरीली हो गई है कि 5वीं तक के स्कूलों को बंद करना पड़ गया है, इंडिया गेट, अक्षरधाम, रोहिणी, आनंद विहार समेत 13 इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 400 के ऊपर दर्ज किया गया। AQI 300 से ऊपर की रेंज बेहद खतरनाक कैटेगरी में मानी जाती है।

हवा की क्वालिटी खराब होने पर कमीशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट (CAQM) ने दिल्ली-NCR में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के थर्ड स्टेज को लागू कर दिया। GRAP का स्टेज III तब लागू किया जाता है जब AQI 401-450 की सीमा में गंभीर हो जाता है।

इसके चलते कुछ क्षेत्रों में BS III पेट्रोल और BS IV डीजल चार पहिया वाहनों पर सख्त प्रतिबंध लग जाता है। वहीं गैर-जरूरी निर्माण-तोड़फोड़ और रेस्टोरेंट में कोयले के इस्तेमाल पर रोक लगा दी जाती है। CM अरविंद केजरीवाल ने पांचवीं क्लास तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को शुक्रवार और शनिवार के लिए बंद करने का आदेश दिया है।

दिल्ली में वायु प्रदूषण पर अपोलो हॉस्पिटल के डॉ. निखिल मोदी ने कहा कि हम साल के उस समय में हैं जहां प्रदूषण एक बार फिर से बढ़ना शुरू हो गया है। सांस लेने में परेशानी वाले मरीजों की संख्या बढ़ गई है। समय आ गया है कि हम मास्क का इस्तेमाल करें और जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलें।

वैज्ञानिक बोले- और खराब होगी दिल्ली की हवा

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) के मुताबिक,शुक्रवार को लोधी रोड में AQI 438, जहांगीरपुरी में 491, आरके पुरम में 486 और IGI एयरपोर्ट पर 473 रिकॉर्ड किया गया। भारतीय वैज्ञानिकों का कहना है कि आने वाले दिनों में दिल्ली की हवा और खराब हो सकती है।

दिल्ली सरकार बोली- हम प्रदूषण को पूरी तरह काबू नहीं कर सकते

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार प्रदूषण को पूरी तरह खत्म नहीं कर सकती है। प्रदूषण का मामला सिर्फ दिल्ली का नहीं है। दिल्ली की तुलना में बाहर के स्रोतों से दोगुना प्रदूषण हो रहा है।

गोपाल राय ने GRAP-3 पर चर्चा को लेकर आज दोपहर 12 बजे सभी संबंधित विभागों की बैठक बुलाई है। GRAP-3 के तहत सभी गैर-जरूरी निर्माण और तोड़फोड़ के काम रोक दिए गए हैं। बीएस-3 पेट्रोल और बीएस-4 डीजल हल्के मोटर चार पहिया वाहनों पर भी रोक लग गई है। पीक आवर्स से पहले सड़कों पर हर दिन पानी का छिड़काव करना होगा।