07 बैंचों पर 134 लंबित वाद सुलझे, प्री—लिटिगेशन के 108 मामले निपटे

👉 अल्मोड़ा जिले में राष्ट्रीय लोक अदालत, 07 बैंचों में विचारण👉 कुल 02.70 करोड़ से अधिक रही समझौता धनराशि सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: राष्ट्रीय विधिक सेवा…

07 बैंचों पर 134 लंबित वाद सुलझे, प्री—लिटिगेशन के 108 मामले निपटे

👉 अल्मोड़ा जिले में राष्ट्रीय लोक अदालत, 07 बैंचों में विचारण
👉 कुल 02.70 करोड़ से अधिक रही समझौता धनराशि

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के निर्देशानुसार गत शनिवार यानि 09 सितंबर 2023 को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ​अल्मोड़ा द्वारा जिले में राष्ट्रीय लोक अदालत का​ आयोजित किया गया। मामलों के निस्तारण के लिए कुल 07 बैंच गठित की गई थी। आयोजन सफल रहा। इन बैंचों में कुल 134 लम्बित वादों एवं बैंक के कुल 108 प्री-लिटिगेशन मामलों का निस्तारण सुलह समझौते से किया गया। इनमें समझौता की राशि 02.70 करोड़ रुपये से अधिक रही।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अल्मोड़ा की सचिव शची शर्मा ने बताया कि जनपद न्यायालय अल्मोड़ा में मामलों के निस्तारण के लिए जिला एवं सत्र न्यायाधीश की बैंच के समक्ष कुल 12 मामले रखे गये। इस बैंच में एनआई एक्ट, मोटर दुर्घटना दावा एवं अन्य दीवानी मामलों से सम्बन्धित 09 मामलों का सुलह समझौते से निस्तारण किया गया। इनमें समझौता धनराशि 78.30 लाख रुपये रही। परिवार न्यायाधीश अल्मोड़ा की बैंच के समक्ष कुल 15 मामले रखे गये। इस बैंच ने भरण—पोषण एवं वैवाहिक वादों से सम्बन्धित पर मामलों का निस्तारण कर समझौता धनराशि 30 हजार रुपये रही।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अल्मोड़ा की बैच के समक्ष निस्तारण के लिए फौजदारी से सम्बन्धित कुल 81 मामले रखे गये। बैंच द्वारा 75 लम्बित मामलों का निस्तारण किया गया और सुलह समझौता धनराशि 68,59,263 रुपये रही। सीनियर सिविल जज अल्मोड़ा की बैंच के समक्ष दीवानी वाद के कुल 17 लंबित वाद एवं प्री-लिटिगेशन मामलों में बैंक सम्बन्धित 500 वाद निस्तारण के लिए रखे गये। बैंच ने 15 लम्बित वादों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार किया गया। जिसमें समझौता धनराशि 44 हजार रुपये रही और बैंक प्री-लिटिगेशन सम्बन्धित 108 मामलों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार पर किया गया। जिसमें समझौता धनराशि 1,05,56,000 रुपये रही।

सिविल जज रानीखेत की बैंच के समक्ष 08 लम्बित मामले निस्तारण के लिए रखे गए। बैंच ने 04 मामलों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार पर हुआ, जिसमें 2,60,500 रुपये समझौता धनराशि रही। सिविल जज द्वाराहाट की बैंच के लिए 22 मामले निस्तारण के लिए रखे गये और बैंच ने 22 मामलों का निस्तारण सुलह समझौते से किया और इसमें समझौता धनराशि 14.72 रुपये रही। सिविल जज भिकियासैण की बैंच के समक्ष 03 मामले रखे गये। बैंच ने 02 लम्बित मामलों का निस्तारण सुलह समझौते से किया। इस प्रकार राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 134 लम्बित वादों एवं बैंक के कुल 108 प्री-लिटिगेशन मामलों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार पर हुआ। जिसमें 01,64,95,768 रुपये एवं प्री-लिटिगेशन सम्बन्धी मामलों में सुलह समझौते की धनराशि रुपया 1,05,56,000 रुपये रही।