Bageshwar Breaking: आकाशीय बिजली गिरने में जंगल में ग्रामीण की मौत

👉 सीमा गांव में अतिवृष्टि से मकान ध्वस्त, परिवार बाल-बाल बचा सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वरः जिले के कपकोट थाना क्षेत्रांतर्गत लीती गांव निवासी एक व्यक्ति की…

बड़ी खबर : उत्तराखंड में पांच लोकसभा सीट की 70 विधानसभाओं में पड़ा इतने प्रतिशत मतदान

👉 सीमा गांव में अतिवृष्टि से मकान ध्वस्त, परिवार बाल-बाल बचा

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वरः जिले के कपकोट थाना क्षेत्रांतर्गत लीती गांव निवासी एक व्यक्ति की आकाशीय बिजली गिरने से दर्दनाक मौत हो गई है। मंगलवार को वह बकरियां व भेड़ें लेकर जंगल गया था और लोधुरा के जंगल में यह दुःखद हादसा हो गया। कपकोट तहसील अंतर्गत ही सीमा गांव में अतिवृष्टि से मकान ध्वस्त हो गया और परिवार बाल-बाल बच गया।

ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी और पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर बुधवार को शव का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है। तहसीलदार कपकोट देवेंद्र लोहनी से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को रमेश सिंह पुत्र मंगल सिंह ग्राम लीती निवासी अपने भेड़ बकरियों को चुगाने जंगल में गए थे। लोधुरा के जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि यह घटना आपदा के अंतर्गत आती है। नियमानुसार पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जाएगा।
सीमा गांव में अतिवृष्टि से मकान ध्वस्त, परिवार बाल-बाल बचा

बागेश्वरः जिले के कपकोट क्षेत्र में रुक-रुक कर चला बारिश का सिलसिला लोगों के लिए मुश्किलें पैदा करने लगा है। इसी अतिवृष्टि से एक व्यक्ति का मकान ध्वस्त हो गया है। सौभाग्य से परिवार के लोग बाल-बाल बच गए। ग्राम प्रधान ने पीड़ित को दैवीय आपदा मद से मुआवजा देने की मांग की है। अतिवृष्टि से सीमा गांव निवासी आनंद सिंह पुत्र हयात सिंह का मकान ध्वस्त हो गया है। परिवार के 04 लोगों ने भाग कर जान बचाई। उनका घरेलू सामान मलबे में दब गया है। ग्राम प्रधान सुंदर सिंह ने बताया कि पीड़ित के पास अन्य घर नहीं है। उसने भाई के यहां शरण ली है। उन्होंने जिला प्रशासन से मौका मुआयना करने और प्रभावित परिवार को अहैतुक राशि प्रदान करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *