Winter : अंधेरा रहेगा कायम, आज है साल की सबसे लंबी रात, जानिए खास

Highlights : 21 दिसंबर, 2023 आज कुछ खास है। क्या आपको पता है कि आज साल की सबसी लंबी रात होगी। रात गुजरेगी और असली…

आज है साल की सबसे लंबी रात

Highlights : 21 दिसंबर, 2023 आज कुछ खास है। क्या आपको पता है कि आज साल की सबसी लंबी रात होगी। रात गुजरेगी और असली ठंड का कल से आपको अहसास होने लगेगा। हो सकता है आने वाले समय में कुछ राज्य भयानक सर्दी का​ सितम झेलेंगे।

साल की सबसे लंबी रात
सबसे लंबी रात

CNE DESK/दरअसल, आने वाली इस भयानक सर्दी को Winter Solstice के नाम से जाना जाता है। सवाल यह है आखिर ऐसा भी क्या है कि इस बार ठंड ज्यादा होगी ! इसका भी एक ​वैज्ञानिक कारण है। बताया जा रहा है कि उत्तरी गोलार्द्ध में सर्दियां शुरू हो चुकी हैं और अब विंटर सोल्सटिस मौसम को सर्द बनायेगा।

क्या है ये विंटर सोल्सटिस, मौसम पर कितना असर !

आपने नो​ट किया होगा आज बृहस्पतिवार को दिन मात्र 8 घंटे का रहा। इसे विज्ञान विंटर सोल्सटिस (Winter Soltice) नाम से जानता है। सूरज इस दिन कर्क रेखा से मकर रेखा की तरफ उत्तरायण से दक्षिणायन from Uttarayan to Dakshinayan की ओर प्रवेश करता है। वस्तुत: यह वह वक्त है पल होते हैं जब सूर्य की किरणें बहुत कम समय के लिए पृथ्वी पर रहती हैं।

यह भी ​जानिए

आसान शब्दों में जो वर्ष का सबसे छोटा दिन होता है उसे ही विंटर सोल्सटिस कहा जाता है। आज सूरज से धरती की दूरी ज्यादा हो गई है। पृथ्वी पर चांद की रौशनी देर तक रहती है। विंटर सोल्सटिस का कारण यह है कि पृथ्वी अपने अक्ष पर घूमते समय लगभग 23.4 डिग्री झुकी होती है। जिसके चलते प्रत्येक गोलार्द्ध को संपूर्ण वर्ष अलग-अलग मात्रा में सूर्य की रोशनी मिलती है।

शुक्रवार को क्या होगा !

शुक्रवार 22 दिसंबर, 2023 को सूर्य मकर रेखा पर लंबवत हो चुका होगा। इससे धरती के उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे छोटा दिन और सबसे बड़ी रात होगी। शुक्रवार यानी रात 12 बजे के बाद सूर्य की रोशनी का एंगल 23 डिग्री 26 मिनट 17 सेकेंड दक्षिण की तरफ होगा। अगले साल 21 मार्च सूर्य विषुवत रेखा पर होगा, तब दिन-रात बराबर समय के होंगे।

Like other planets, the Earth is also tilted at 23.5 degrees. Due to the rotation of the Earth on a tilted axis, more sun rays fall at one place and less at another place. Let us tell you, during the winter solstice, more sunlight falls in the southern hemisphere.

सूर्य की किरणों का अंतर है विश्व के विभिन्न देशों में

ज्ञातव्य हो कि Northern hemisphere में सूरज की रोशनी कम पड़ती है। यही कारण है कि आज के दिन दक्षिणी गोलार्द्ध में सूरज ज्यादा देर तक रहता है। जिससे वहां दिन लंबा होता है। Argentina, Australia and South Africa जैसे देशों में आज से गर्मी की शुरुआत हो जाती है।

सॉल्सटिस की यह है सटीक परिभाषा

On the day of December Winter Solstice, when the direct rays of the Sun reach the Tropic of Capricorn to the south of the Equator, it is called December Solstice in the Northern Hemisphere and June Solstice in the Southern Hemisphere.

सबसे लंबी रात