अल्मोड़ा से निकलेगी तिरंगा यात्रा, बागेश्वर में कुली बेगार पर नाटक प्रस्तुति

👉 उत्तराखंड स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं उत्तराधिकारी संगठन का निर्णय, कार्यक्रम की रुपरेखा तय सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: उत्तराखंड स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं उत्तराधिकारी संगठन अल्मोड़ा…

अल्मोड़ा से निकलेगी तिरंगा यात्रा, बागेश्वर में कुली बेगार पर नाटक प्रस्तुति

👉 उत्तराखंड स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं उत्तराधिकारी संगठन का निर्णय, कार्यक्रम की रुपरेखा तय

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: उत्तराखंड स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं उत्तराधिकारी संगठन अल्मोड़ा की बैठक गांधी पार्क अल्मोड़ा में आयोजित हुई। जिसमें आगामी उत्तरायणी पर्व पर प्रस्तावित कार्यक्रम की रुपरेखा तय की गई। निर्णय लिया कि तिरंगा यात्रा अल्मोड़ा से निकलकर बागेश्वर पहुंचेगी, जहां संगठन द्वारा कुली बेगार पर आधारित नाटक प्रस्तुत करेगा।

कर्नल रवि पांडे की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में आगामी उत्तरायणी पर्व पर प्रस्तावित ‘कुली बेगार’ पर आधारित कार्यक्रम के आयोजन पर मंथन हुआ। विचारोपरांत तय हुआ कि 14 जनवरी, 2024 को सुबह 10 बजे गांधी पार्क अल्मोड़ा से तिरंगा यात्रा निकलेगी, जो पांडेखोला बाईपास तक की जाएगी। इसमें अल्मोड़ा के सभी राजनैतिक व सामाजिक संगठनों और सभी वर्गों को शामिल किया जाएगा। यह यात्रा पांडेखोला बाईपास से बागेश्वर को प्रस्थान करेगी और रात्रि विश्राम बागेश्वर के पास चामी गांव में होगा। यहां उल्लेखनीय है कि कुली बेगार यात्रा के समय कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे ने रात्रि विश्राम चामी गांव में ही किया था। इसके बाद उत्तरायणी के दिन बागेश्वर में कुली बेकार पर आधारित एक नाटक की प्रस्तुति होगी।

यह भी तय किया कि संगठन उत्तराधिकारियों के सर्वेक्षण पत्र भरकर प्रेषित करेगा। बैठक में तय किया गया कि वर्ष 2024 के जनवरी माह से हर महीने के प्रथम रविवार को ऐतिहासिक स्वतंत्रता सेनानी स्थलों पर संगठन अपना कार्यक्रम करेगा और अपने पूर्वजों को याद कर वहां पर स्वच्छता अभियान चलाएगा। बैठक में संगठन के जिलाध्यक्ष कमलेश पांडे के अतिरिक्त वरिष्ठ उपाध्यक्ष पुष्कर प्रसाद पांडे, कार्यकारणी सदस्य शिव शंकर बोरा, वसुधा पंत, आशुतोष पंत, नंदन सिंह कार्की, शिवेंद्र गोस्वामी, दीपेश राणा, हितेश तिवारी, कमला कार्की, भरत पांडे, कैलाश वर्मा, विनय कुमार पांडे आदि शामिल रहे।