Almora/Bageshwar: फिर डोली धरती, भूकंप के झटकों से लोग सहमे

— 5.8 रही इसकी तीव्रता, कालिका नेपाल था इसका केंद्र सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा/बागेश्वर: अल्मोड़ा व बागेश्वर जिलों में आज अपराह्न करीब 2 बजकर 28​ मिनट…

— 5.8 रही इसकी तीव्रता, कालिका नेपाल था इसका केंद्र

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा/बागेश्वर: अल्मोड़ा व बागेश्वर जिलों में आज अपराह्न करीब 2 बजकर 28​ मिनट पर धरती डोली। भूकंप के झटकों से लोग सहम गए। इस भूकंप का केंद्र नेपाल बताया गया है। इससे किसी प्रकार के क्षति की खबर नहीं है। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 5.8 मापी गई।

अल्मोड़ा: यहां अपराह्न भूकंप के झटके महसूस किए गए। कई लोगों ने ये झटके महसूस किए और कई लोगों को इनका आभास नहीं हुआ। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी विनीत पाल ने बताया कि आज लगभग अपराह्न 2:28 बजे जनपद में भूकम्प के झटके महसूस किए गए। जिसके उपरान्त जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र अल्मोड़ा द्वारा जनपद की समस्त तहसीलो से दूरभाष के माध्यम से सूचना प्राप्त की गई। उन्होंने बताया कि तहसीलों द्वारा प्राप्त सूचनानुसार किसी भी तहसील में जनहानि व पशुहानि की कोई घटना नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि भूकम्प का केन्द्र कालिका, नेपाल में बताया जा रहा है। इसकी रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 5.8 रही।

बागेश्वर: जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। सोमवार दोहपर 2.28 बजे झटकों से लोग सहम गए। घरों से बाहर निकल आए। तेज झटकों ने उन्हें किसी अनहोनी की आशंका बनी रही। हालांकि नुकसान की अभी पुष्टि नहीं है। सोमवार को बागेश्वर, कपकोट, गरुड़, कांडा, काफलीगैर, शामा, कौसानी आदि स्थानों पर भूकंप का झटका महसूस किया गया। अधिकतर लोग घरों से बाहर थे। मौसम खराब होने से घर पर बुजुर्ग आदि लोग अलाव सेक रहे थे। भूकंप का झटका आने पर वह घरों से बाहर निकल आए। जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि भूकंप का केंद्र नेपाल था। आपातकालीन परिचालनर केंद्र, तहसील, थाना, चौकियों से दूरभाष और वायरलेस के माध्यम से सूचना जुटाई की। उन्होंने बताया कि वर्तमान में किसी भी प्रकार की जनहानि और पशुहानि की सूचना नहीं है।