शिक्षा की जनोपयोगी जानकारियां समाज तक पहुंचाएं शिक्षक— गोस्वामी

👉 अल्मोड़ा डायट में तीन दिनी संदर्भदाता प्रशिक्षण का समापन👉 96 मास्टर ट्रेनर शिक्षकों ने समझी विविध बारीकियां सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण…

शिक्षा की जनोपयोगी जानकारियां समाज तक पहुंचाएं शिक्षक— गोस्वामी

👉 अल्मोड़ा डायट में तीन दिनी संदर्भदाता प्रशिक्षण का समापन
👉 96 मास्टर ट्रेनर शिक्षकों ने समझी विविध बारीकियां

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान अल्मोड़ा में सामुदायिक शिक्षा के तहत एसएमसी व एसएमडीसी प्रशिक्षण के लिए आयोजित तीन दिनी संदर्भदाता प्रशिक्षण आज संपन्न हो गया। जिसका समापन डायट के प्राचार्य जीजी गोस्वामी ने किया। इस मौके पर श्री गोस्वामी ने अपने संबोधन में शिक्षकों का आह्वान किया कि वे सरकार द्वारा चलाई जा रही शिक्षा से संबंधित उपयोगी जानकारियां समाज तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि विद्यालय प्रबंध समिति व विद्यालय विकास समिति के क्षमता संवर्धन तथा उनके अधिकार एवं कर्तव्यों की जानकारी समुदाय के सम्मानित सदस्यों तक पहुंचना सुनिश्चित करें। 👇👇

मास्टर ट्रेनर शिक्षकों को संबोधित करते हुए प्रशिक्षण प्रभारी व मुख्य संदर्भदाता गोपाल सिंह गैड़ा ने कहा कि सामुदायिक सहभागिता एवं गुणवत्ता शिक्षा के लिए विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों को प्रशिक्षण के माध्यम से विभागीय योजनाओं की जानकारी देना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि समुदाय व विद्यालय प्रबंध समिति के सहयोग से ही राष्ट्रीय शिक्षा नीति के उद्देश्यों की प्राप्ति हो सकती है। संदर्भदाता डॉ. दीपा जलाल ने विद्यालय प्रबंध समिति के गठन तथा शिक्षा के अधिकार 2009 के अंतर्गत बाल अधिकारों पर चर्चा की जबकि मुख्य संदर्भदाता डॉ. सतीश भट्ट ने विद्यालय विकास योजना के निर्माण, शिक्षा का अधिकार, बालिका शिक्षा तथा सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी संकुल प्रभारी एवं शिक्षकों को दी। 👇👇

जिला समन्वयक डा. नीतू सूद ने समग्र शिक्षा के तहत चल रहे विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान विद्यालय प्रबंध समिति से संबंधित शिक्षाप्रद व प्रेरणादायक वीडियो क्लिपों का निर्माण किया गया है। कार्यक्रम में भौतिक संसाधनों की उपलब्धता, समाज के सहयोग व सरकार की योजनाओं की जानकारी दी गई। प्रशिक्षण में 05 विकासखंडों के 96 मास्टर ट्रेनर शिक्षकों ने हिस्सा लिया। जिन्होंने विद्यालय प्रबंध समिति, आपदा प्रबंधन, विद्यालय सुरक्षा, समावेशी शिक्षा, प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना, बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, सामाजिक सम्परीक्षा, बाल अधिकार आदि पर समूह में कार्य कर प्रस्तुतीकरण किया। इस मौके पर डॉ. सरिता पांडे, डा. सतीश चंद्र भट्ट, राजू मेहरा, हरीश पांडे, ललित मोहन पांडे, डॉ. बीसी पांडे, अशोक वनकोटी, एमएस भंडारी, प्रकाश चंद जोशी, पूरन सिंह बिष्ट, दीपा तिवारी, भुवन सिंह शिराड़ी, नायला अमान, ज्योति पांडे, ज्योति शाह, राम सिंह जैनी, जीवन चंद्र अधिकारी, उमेश चंद सुयाल, चंद्रशेखर नेगी, राजेंद्र बिष्ट आदि शिक्षक उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन जीएस गैड़ा ने किया।