अल्मोड़ा/बागेश्वर: शिक्षा विभाग के मिनिस्टीरियल कर्मियों ने शुरू किया विरोध—प्रदर्शन

👉 काफी इंतजार के बाद भी मांगों पर गौर नहीं फरमाने से चढ़ा पारा सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा/बागेश्वर: शिक्षा विभाग के मिनिस्टीरियल कर्मचारियों ने एजुकेशनल मिनिस्टीरियल…

शिक्षा विभाग के मिनिस्टीरियल कर्मियों ने शुरू किया विरोध—प्रदर्शन

👉 काफी इंतजार के बाद भी मांगों पर गौर नहीं फरमाने से चढ़ा पारा

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा/बागेश्वर: शिक्षा विभाग के मिनिस्टीरियल कर्मचारियों ने एजुकेशनल मिनिस्टीरियल आफिसर्स एसोसिएशन की कुमायूं मंडल इकाई द्वारा घोषित आंदोलनात्मक कार्यक्रम का श्रीगणेश कर दिया है। संगठन की मंडलीय शाखा के आह्वान पर घोषित चरणबद्ध आंदोलन के तहत आज से बांहों में काला फीता बांधकर विरोध शुरू कर दिया है। इसी क्रम में आज अल्मोड़ा व बागेश्वर में मिनिस्टीरियल कर्मचारियों ने मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में बांहों में काले फीते बांधकर प्रदर्शन किया और लंबित मांगों का लंबे समय बाद भी अपर निदेशक, प्रारम्भिक शिक्षा, कुमायूं मण्डल द्वारा कोई कार्यवाही नहीं किए जाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए नारेबाजी की।

अल्मोड़ा: यहां मुख्य शिक्षा कार्यालय के समक्ष मिनिस्टीरियल कर्मचारियों ने बांहों में काले फीते बांधकर आज से विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। उन्होंने मांगों पर गौर नहीं फरमाये जाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए उपेक्षा के खिलाफ नारेबाजी की। इस प्रदर्शन में संगठन के मंडलीय अध्यक्ष पुष्कर सिंह भैसोड़ा सहित एमडी सती, हाउन रसीद, महेंद्र भोज, दीपिका मिश्रा, हयात जैम्याल, गोविंद सिंह मेहता, पुष्पा कांडपाल, ज्योति आर्या, गोपाल मेहता, पान सिंह मेर, बलवंत तड़ागी, देवेंद्र नेगी, दिनेश सिंह, भुवन चंद्र जोशी, गणेश राज, सुरेंद्र, सुधीर मंडल, भुवन सांगा, दीनदयाल आदि शामिल रहे। अब कल डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित करने का कार्यक्रम है।
बागेश्वर में भी आक्रोश

बागेश्वर: अपनी लंबित मांगों को लेकर मिनिस्ट्रीयल कर्मी एक बार फिर मुखर हुए हैं। बुधवार को आंदोलित कर्मचारियों ने मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय व लोनिवि में एकत्रित होकर सभा की और प्रदर्शन किया। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि जब तक उनकी लंबित मांगें पूरी नहीं होंगी वह चुप नहीं रहेंगे। इस आशय का एक ज्ञापन डीएम के माध्यम से सीएम को भेजा।

उत्तराखंड फैडरेशन ऑफ मिनिस्ट्रीयल सर्विसेज एसोसिएशन के बैनर तले कर्मचारी सीईओ कार्यालय में एकत्रित हुए। यहां नारेबाजी के साथ प्रदर्शन किया। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि अपनी लंबित मांगों को लेकर वह लंबे समय से आंदेालित हैं, लेकिन सरकार उनकी मांगों को मानने के बजाए उलझा रही है। जो कर्मचारी हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि अपनी मांगों के समर्थन में वह 29 दिसंबर को मंडल स्तर पर धरना देंगे। सरकार के सामने अपनी मांगों को प्रमुखता से रखेंगे। इसके बाद भी यदि उनकी नहीं मानी गई तो आंदोलन की रूपरेखा तय की जाएगी। इस मौके पर अध्यक्ष अनिल जोशी,भूपेंद्र सिंह मनराल, मोहन उपाध्याय, दीवान सिंह ऐठानी, गौरव कर्म्याल, दयाल दानू, जगदीश कोरंगा मौजूद रहे।