ब्रेकिंग न्यूज : गौला, कोसी, नंदौर व दाबका में 30 के बाद खनन की तैयारी, लेकिन यह होंगी शर्तें

हल्द्वानी । सर्किट हाउस में आज देर सांय जिलाधिकारी सविन बंसल की अध्यक्षता में जिला खनन समिति की आकस्मिक बैठक सम्पन्न हुई। बैठक मे वन…


हल्द्वानी । सर्किट हाउस में आज देर सांय जिलाधिकारी सविन बंसल की अध्यक्षता में जिला खनन समिति की आकस्मिक बैठक सम्पन्न हुई। बैठक मे वन विकास निगम के अधिकारियो ने 30 अप्रेल तक पुनः खनन प्रारम्भ कराये जाने के लिए तैयारियों के लिए समय मांगा, साथ ही खनन समिति अध्यक्ष/जिलाधिकारी ने वन विकास निगम के अधिकारियों के साथ ही उच्च अधिकारियों को लाकडाउन की स्थिति में खनन प्रारम्भ कराने हेतु जमीनी हकीकत से अवगत कराते हुये खनन प्रारम्भ कराने की स्वीकृति प्राप्त करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी बंसल ने लाकडाउन मानकों के अनुपालन के अनुसार नदियो मे पुनः खनन प्रारम्भ कराने की तैयारियों हेतु 30 अप्रेल तक का समय दिया। उन्होने कहा कि वर्तमान समय में कोरोना सकं्रमण पर प्रभावी रोेक लगाने लिए लाकडाउन प्रभावी है जिसमे श्रमिकों मे सोशल डिस्टैंसिंग अनिवार्य है साथ ही श्रमिकों को मास्क, सेनिटाइजेशन, साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था के साथ ही श्रमिकों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण वन निगम द्वारा किया जाना अनिवार्य होगा।
वन निगम द्वारा खनन समिति के समक्ष गौला नदी के गोरापडाव, बेरीपडाव व लालकुआं गेट खोलने के साथ ही नंधौर नदी में एनके-1 गेट, दाबका नदी में दाबका गेट तथा कोसी नदी में बंजारी प्रथम व द्वितीय गेट खोलने का प्रस्ताव रखा, साथ ही बताया कि सभी गेटों पर खनन हेतु पर्याप्त श्रमिक उपलब्ध हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि सभी श्रमिकों का खनन क्षेत्रोें के आसपास रहने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए तथा सामाजिक दूरी भी सुनिश्चित कराई जाए। उन्होेने कहा कि खनन क्षेत्र में मौजूद श्रमिकों के अलावा बाहर से कोई श्रमिक नही आयेंगे और ना ही खनन वाहन चालक बाहर से आएंगे, यह सुनिश्चित कर लिया जाए।
बैठक मे निर्णय लिया गया कि कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत सभी खनन श्रमिक मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग मानकों का पालन करेंगे, पालन ना करने की दशा मे चालान किया जायेगा तथा जो खनन वाहन चालक बिना मास्क पहने वाहन चलायेगा या सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नही करेगा ऐसे वाहनों खनन पंजीयन निरस्त कर दिया जायेगा।
बैठक में अपर जिलाधिकारी (वित्त राजस्व) एसएस जंगपांगी, प्रभागीय वनाधिकारी नितीश मणी त्रिपाठी, हिमांशु बागरी, क्षेत्रीय प्रबंधक वन निगम कुमाऊं जीसी पंत,आरएम वन निगम पश्चिमी बीडी हरर्बोला, महाप्रबन्धक केएमवीएम अशोक जोशी,सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, प्रभारी अधिकारी खनन गौरव चटवाल,भू वैज्ञानिक रवि नेगी,उपजिलाधिकारी विवेक राय, वीएन शुक्ला, विनोद कुमार, एआरटीओ संदीप वर्मा,डा0 गुरदेव सिह, विमल पाण्डे,डीएलएम योगेन्द्र सिह श्रीवास्तव,अनीश अहमद,जेपी भटट, कृष्ण कुमार उपाध्याय आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *