Ranikhet: वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की शौर्य गाथा का अभिनय कर भरी देशभक्ति की प्रेरणा

इतिहास विभाग द्वारा प्रेरक नाटक का मंचन, युवाओं के अभिनय ने लूटी वाहवाही राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आजादी के अमृत महोत्सव सप्ताह के तहत कार्यक्रम…

  • इतिहास विभाग द्वारा प्रेरक नाटक का मंचन, युवाओं के अभिनय ने लूटी वाहवाही
  • राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आजादी के अमृत महोत्सव सप्ताह के तहत कार्यक्रम

सीएनई रिपोर्टर, रानीखेत
राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में आज़ादी के अमृत महोत्सव सप्ताह के तहत कार्यक्र्रमों श्रृंखला चल रही है। इसी सिलसिले में आज महाविद्यालय के इतिहास विभाग द्वारा महाविद्यालय सभागार में नाटक ‘वीर चंद्र सिंह गढ़वाली’ का प्रेरक मंचन किया गया। इस शानदार मंचन के जरिये वीर चंद्र सिंह गढ़वाली शौर्य गाथा से दर्शकों को रूबरू कराया गया।

नाटक में विभिन्न पात्रों ने शानदार व मनमोहक अभिनय करते हुए सिपाही चंद्र सिंह गढ़वाली की वीरता से दर्शकों को परिचित व प्रेरित कराया। नाटक में वीर चंद्र सिंह द्वारा अंग्रेजों के हुक्म की नाफरमानी की घटना का प्रदर्शन करते हुए वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की वीरता, त्याग व बलिदान से उपस्थितजनों को रूबरू कराया गया। इस नाटक का लेखन व निर्देशन इतिहास विभाग के डॉ. पंकज प्रियदर्शी द्वारा किया गया है। डॉ. पंकज प्रियदर्शी ने बताया की इस नाटक के माध्यम से वीर चन्द्र सिंह की शौर्य गाथा को आम लोगों तक पहुंचाना लक्ष्य है। नाटक में चन्द्र सिंह की भूमिका राकेश सिंह रावत, गांधी जी की भूमिका दीपक, पठान की भूमिका चेतन मनराल, गायत्री, भावना, चित्रा, यामिनी, प्रियंका, प्रीति आर्या, नेहा ने निभाई तथा सूत्रधार की भूमिका प्रियंका आर्या, तनुजा मेहरा और आयुषी अरेरा, शिक्षक तथा सूत्रधार की भूमिका श्रद्धा, फौजी की भूमिका संदीप, विनोद, राहुल, अजेय, अमित और योगेश, मूंगफली वाला प्रियंका चन्द्र, चायवाला प्रीति आर्या, कैप्टेन रिकेट कृतिका पांडे ने निभाई। सभी पात्रों के सुंदर अभियन ने खूब तालियां बटोरी।

इससे पहले कार्यक्रम का उद्घाटन महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. पुष्पेश पांडे ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि नाटकों के माध्यम से हम मनोरंजन के साथ-साथ रचनात्मक और रोचक ऐतिहासिक घटनाओं को दर्शकों के बीच प्रस्तुत कर सकते हैं तथा अपने इतिहास से नई पीढ़ी को रूबरू करा सकते हैं। इसके अलावा राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में आज़ादी के अमृत महोत्सव सप्ताह के कार्यक्रमों के तहत भाषण, पोस्टर, गायन, सामान्य ज्ञान व स्लोगन आदि की प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। आज
नाटक के मंचन के अवसर पर मुख्य अतिथि प्रो. अनिल जोशी, इतिहास विभाग की प्रभारी डॉ. दीपा पांडे, डॉ. पंकज प्रियदर्शी, डॉ. पूजा, डॉ. जया नैथानी, डॉ. मुकुल कुमार, डॉ. महिराज मेहरा, डॉ. रोहित जोशी, डॉ. नमिता मिश्र, डॉ. पारुल भारद्वाज, डॉ. सुमिता गढ़कोटी तथा छात्र-छात्राएं मौजूद रहीं।