हल्द्वानी : विश्वविख्यात सर्जन डॉ. राहुल चंदोला सुशीला तिवारी अस्पताल में देंगे अपनी सेवाएं

हल्द्वानी समाचार | विश्वविख्यात सर्जन डॉ. राहुल चंदोला अब हल्द्वानी के सुशीला तिवारी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में अपनी सेवाएं देंगे। डॉ. चंदोला आउटपेशेंट विभाग (ओपीडी) में…

हल्द्वानी समाचार | विश्वविख्यात सर्जन डॉ. राहुल चंदोला अब हल्द्वानी के सुशीला तिवारी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में अपनी सेवाएं देंगे। डॉ. चंदोला आउटपेशेंट विभाग (ओपीडी) में नियमित रूप से परामर्श के लिए उपलब्ध होंगे। डॉ. चंदोला यहां मासिक रूप से रोगियों को सेवा देंगे।

डॉ. राहुल चंदोला प्रसिद्ध कार्डिओथोरेसिक सर्जन हैं, जिन्होंने दुनिया के कुछ प्रमुख चिकित्सा संस्थानों जैसे टोरोंटो जेनेरल हॉस्पिटल, सनीबूक हॉस्पिटल, यूनिवर्सिटी ऑफ अल्वर्टा और हुम्बोल्ट विश्वविद्यालय, जर्मनी जैसे देशों के चिकित्सा संस्थानों में अपनी सेवाएं दी हैं।

डॉ. चंदोला मूल रूप से हल्द्वानी से जुड़े हुए हैं, वह भारत में हार्ट एवं लंग ट्रांसप्लांट और जटिल कार्डियोबोरेसिक और वैस्कुलर सर्जरी के विशेषज्ञ हैं। साथ ही भारत और विदेश में अंगदान कार्यक्रम और जागरूकता प्रचारण में भी मुख्य भूमिका निभा रहे हैं।

डॉ. चंदोला की प्रेरणा से ही देश की राजधानी नई दिल्ली में हार्ट लंग्स डिजीज और रिसर्च सेंटर (आईएचएलडी) उत्तर भारत के कुछ प्रमुख संस्थानों में से एक है जो हृदय और फेफड़ों के रोगों के लिए विशेष चिकित्सा सेवाएँ प्रदान करता है अस्तित्व में आया।जैसे कि कठिन शत्य संबंधित चिकित्सा, अंतिम स्तर के हृदय और फेफड़ों के रोगों के लिए थैरेपियाँ और प्रतिक्रिया।

आईएचएलडी के पास एक मजबूत कार्डियो-पल्मोनरी पुनर्वास कार्यक्रम भी है, जिसमें एआई-आधारित मोशन सेंसिंग और स्केलेटल मसल स्ट्रेंथ आकलन कार्यक्रम शामिल है, जो प्रभावित मांसपेशियों के प्रति केवल अभिग्रहण और रोगी की आवश्यकताओं के अनुसार अधिक प्रभावी और अनुकूलित है।

डॉ. राहुल चंदोला ने बताया कि “मुझे सुशीला तिवारी गवर्नमेंट अस्पताल के साथ जुड़ने की एक अलग खुशी है। वह इसलिए क्यूंकि मैं हल्द्वानी से मूल रूप से जुड़ा हुआ हूं। स्थानीय लोगों की सेवा करने का एक अलग ही एहसास होता है और ऐसा करने से मुझे एक अलग खुशी मिलेगी। मैं आशा करता हूँ कि मेरा सुशीला तिवारी गवर्नमेंट अस्पताल के साथ जुड़ना क्षेत्र और राज्य के निवासियों को लाभान्वित करेगा, जो कटिंग-एज, जटिल प्रक्रियाओं के लिए इस छेत्र से दूर जाने की आवश्यकता नहीं होगी। मैं हल्द्वानी में हृदय और फेफड़ों के इलाज और सर्जरी के नवाचार लाने के प्रति प्रतिबद्ध हूं।”