केजरीवाल बोले- BJP में चले जाओ तो सारे खून माफ – हमने कुछ गलत नहीं किया; आतिशी को क्राइम ब्रांच का नोटिस, कल तक जवाब मांगा

नई दिल्ली | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार 4 फरवरी को केंद्र सरकार पर निशाना साधा। दिल्ली के रोहिणी इलाके में एक स्कूल…

केजरीवाल बोले- BJP में चले जाओ तो सारे खून माफ - हमने कुछ गलत नहीं किया; आतिशी को क्राइम ब्रांच का नोटिस, कल तक जवाब मांगा

नई दिल्ली | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार 4 फरवरी को केंद्र सरकार पर निशाना साधा। दिल्ली के रोहिणी इलाके में एक स्कूल के शिलान्यास पर उन्होंने कहा कि बीजेपी में चले जाओ तो सारे खून माफ हो जाएंगे, लेकिन हम ऐसा नहीं करेंगे। इससे पहले शनिवार 3 फरवरी को क्राइम ब्रांच की टीम केजरीवाल के घर पहुंची थी।

वहीं, रविवार को क्राइम ब्रांच ने मंत्री आतिशी को नोटिस दिया। उन्हें जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय (5 फरवरी तक) दिया गया है। दिल्ली पुलिस की टीम सुबह 10:30 बजे उनके आवास पहुंची थी। हालांकि आतिशी पहले ही सांसद राघव चड्ढा के साथ केजरीवाल के घर पहुंच गई थीं।

दोपहर करीब साढ़े तीन बजे आतिशी ने क्राइम ब्रांच के नोटिस को लेकर कहा कि मुझे और CM केजरीवाल को जो नोटिस दिया गया है वो न तो समन है, न FIR है और न ही इसमें IPC या CRPC की धारा का जिक्र है। दिल्ली क्राइम ब्रांच को उनके राजनीतिक आकाओं ने नौटंकी बना दिया है। दिल्ली के अफसर डरपोक हो गए हैं। हमें उन पर दया आती है।

केजरीवाल बोले- हम कोई गलत काम नहीं कर रहे

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि ये (केंद्र सरकार) हमारे खिलाफ जो मर्जी साजिश कर लें, कुछ नहीं होने वाला। मैं भी इनके खिलाफ डटा हूं, मैं भी नहीं छोड़ने वाला। ये कहते हैं कि बीजेपी में आ जाओ, हम छोड़ देंगे। मैंने कहा, बिल्कुल नहीं आऊंगा। कतई नहीं आऊंगा। क्यों आ जाएं बीजेपी में। बीजेपी में चले जाओ तो सारे खून माफ।

केजरीवाल ने ये भी कहा कि हमने कौन सा गलत काम किया। स्कूल ही तो बनवा रहे हैं, अस्पताल ही तो बनवा रहे हैं, सड़कें ही तो बनवा रहे हैं, पानी का ही तो इंतजाम कर रहे हैं, सीवर ही तो ठीक करा रहे हैं।

केजरीवाल को भी नोटिस, कल तक जवाब देना है

क्राइम ब्रांच की टीम ने आतिशी के आवास के अंदर और बाहर 3 घंटे से ज्यादा समय तक इंतजार किया। बाद में उनके ऑफिस स्टाफ ने नोटिस रिसीव किया। इससे पहले क्राइम ब्रांच ने शनिवार (3 फरवरी) को सीएम अरविंद केजरीवाल को भी नोटिस दिया था। उनसे भी 5 फरवरी तक जवाब मांगा गया है।

दरअसल, अरविंद केजरीवाल और आतिशी ने भाजपा पर आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों को 25-25 करोड़ रुपए ऑफर करने के आरोप लगाए थे। आतिशी ने कहा था कि BJP दिल्ली में AAP की सरकार गिराना चाहती है। इस मामले में क्राइम ब्रांच दोनों नेताओं से पूछताछ कर सबूत लेना चाहती है।

3 पॉइंट में समझें AAP विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामला

1- केजरीवाल ने 27 जनवरी को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट किया। इसमें उन्होंने दावा किया कि भाजपा ने AAP के 7 विधायकों से संपर्क किया और पार्टी छोड़ने के लिए 25-25 करोड़ रुपए की पेशकश की।

केजरीवाल के मुताबिक, भाजपा ने कहा- 25 करोड़ रुपए देंगे और भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़वा देंगे। 21 विधायकों से बात हो गई है। अन्य विधायकों से भी बात कर रहे हैं। दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार गिरा देंगे।

2- आतिशी ने 27 फरवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- दिल्ली में BJP दो बार ऑपरेशन लोटस करने की कोशिश कर चुकी है। 2013 में AAP के 28 विधायक चुने गए थे। तब BJP ने AAP को तोड़ने की कोशिश की। 2022 में भाजपा ने AAP के विधायकों को 20-20 करोड़ रुपए का ऑफर दिया। इस बार भाजपा ने ऑपरेशन लोटस 2.0 शुरू किया है।

आतिशी ने दावा किया कि AAP के पास भाजपा नेता की बातचीत की रिकॉर्डिंग है, जिसमें वे कह रहे हैं कि केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके बाद दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार गिरा देंगे। उन्होंने मध्यप्रदेश, कर्नाटक और अरुणाचल प्रदेश में ऐसे ही सरकारें गिराई हैं।

3- भाजपा ने इन आरोपों को खारिज किया और 30 जनवरी को दिल्ली पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा से मुलाकात की। भाजपा नेताओं ने पुलिस कमिश्नर को एक शिकायत सौंपी और AAP के आरोपों की जांच करने की मांग की। इसके बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच केजरीवाल और आतिशी से भाजपा पर लगाए आरोपों के सबूत मांग रही है।

केजरीवाल का दावा, भाजपा ने मुझे पार्टी जॉइन करने का ऑफर दिया

क्राइम ब्रांच के नोटिस को लेकर गहमागहमी के बीच केजरीवाल और आतिशी रविवार (4 फरवरी) को रोहिणी में सरकारी स्कूलों का उद्घाटन करने पहुंचे। इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि भाजपा उन्हें हाथ मिलाने का ऑफर दे रही है।

केजरीवाल ने कहा- भाजपा कह रही है कि हमारे साथ आ जाओ, छोड़ देंगे। भाजपा में चले जाओ, सारे खून माफ। मैं भाजपा में नहीं जाऊंगा। मैं झुकने वाला नहीं हूं। मैंने कोई गलत काम नहीं किया है।

अधिकारियों ने 5 घंटे तक केजरीवाल का इंतजार किया

क्राइम ब्रांच की टीम 3 फरवरी को सुबह करीब 10 बजे केजरीवाल के आवास पहुंची थी। केजरीवाल अपने आवास पर नहीं थे। क्राइम ब्रांच के अधिकारी करीब 5 घंटे तक सीएम आवास पर केजरीवाल का इंतजार करते रहे। इसके बाद CMO के अधिकारी को नोटिस दिया गया।

AAP नेता जैस्मिन शाह ने 4 फरवरी को नोटिस की कॉपी मीडिया के सामने जारी की। उन्होंने कहा- नोटिस पर न किसी FIR का जिक्र है, न कोई समन है। इसमें IPC या CRPC की किसी धारा का जिक्र भी नहीं है। ये सिर्फ व्हाइट पेपर पर लिखा एक खत है।

AAP नेता ने कहा कि ऐसे खत के लिए हर मुख्यमंत्री-मंत्री के घर के बाहर एक लेटर बॉक्स होता है। ऐसा क्या हो गया कि क्राइम ब्रांच के एक सीनियर अफसर भाजपा के कहने पर 5 घंटे तक केजरीवाल के आवास के बाहर नौटंकी करने के लिए खड़े थे।

क्राइम ब्रांच की टीम शुक्रवार (2 फरवरी) को भी केजरीवाल और मंत्री आतिशी को नोटिस देने गई थी। हालांकि दोनों अपने आवास पर नहीं थे, जिसके कारण पुलिस बिना नोटिस दिए लौट गई।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि किसी ने नोटिस नहीं लिया। हालांकि CMO ने दावा किया कि दिल्ली पुलिस बिना नोटिस दिए ही चली गई थी।

BJP बोली- आरोप लगाकर भाग नहीं सकते

दिल्ली BJP अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने 2 फरवरी को कहा- हमने कहा था कि केजरीवाल सनसनी पैदा करने के लिए झूठे आरोप लगा रहे हैं। केजरीवाल के झूठ के पीछे का सच अब उजागर होने वाला है। वह जांच से नहीं भाग सकते। उन्हें जांच का सामना करना पड़ेगा।