कश्मीर में हिमपात के कारण श्रीनगर हवाई अड्डे पर सभी उड़ानें रद्द

श्रीनगर | जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर सहित कश्मीर घाटी के अन्य क्षेत्रों में रविवार को इस मौसम का सर्वाधिक हिमपात हुआ, जिसके कारण श्रीनगर हवाई अड्डे…

कश्मीर में हिमपात के कारण श्रीनगर हवाई अड्डे पर सभी उड़ानें रद्द

श्रीनगर | जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर सहित कश्मीर घाटी के अन्य क्षेत्रों में रविवार को इस मौसम का सर्वाधिक हिमपात हुआ, जिसके कारण श्रीनगर हवाई अड्डे पर सभी उड़ानें रद्द कर दी गईं।

अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि खराब मौसम के कारण श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आने-जाने वाली सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। श्रीनगर और घाटी के अन्य हिस्सों में अब भी हिमपात हो रहा है। एक रेलवे अधिकारी ने बताया कि कश्मीर में रेलवे परिचालन भी प्रभावित हुआ है, क्योंकि हिमपात के कारण ट्रेनें देरी से चल रही हैं। खराब मौसम के बावजूद श्रीनगर जम्मू राजमार्ग पर यातायात जारी है।

यातायात पुलिस ने एक्स पर पोस्ट किया, “लोगों को सड़क अनुशासन का पालन करने और सावधानी से गाड़ी चलाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि नाशरी और नवयुग टनल के बीच सड़क का एक हिस्सा सिंगल-लेन है और कई जगहों पर फिसलन है।”

हिमपात के कारण श्रीनगर-सोनमर्ग-गुमरी-सोनमर्ग-गुमरिग लद्दाख मार्ग भी बंद हो गया। श्रीनगर और इसके आसपास के इलाके बर्फ की मोटी परत से ढंके हुए हैं। श्रीनगर में अधिकारियों ने सड़कों से बर्फ हटाने के लिए कर्मियों और मशीनों को लगाया है ताकि उन्हें यातायात के योग्य बनाया जा सके।

मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कश्मीर घाटी के मैदानी इलाकों में तीन से छह इंच हिमपात हुआ, जबकि मध्य और ऊंचाई वाले इलाकों में आठ से 12 इंच हिमपात हुआ। जम्मू संभाग में भी इस अवधि के दौरान मैदानी इलाकों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश और मध्य तथा ऊंचाई पर हल्का से मध्यम हिमपात हुआ।

मौसम कार्यालय ने एक रिपोर्ट में कहा है कि आम तौर पर कुछ स्थानों पर बादल छाये रहेंगे, आज दोपहर या देर शाम तक कई स्थानों पर हल्का से मध्यम हिमपात होने के आसार हैं और उसके बाद धीरे-धीरे सुधार होगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि पांच फरवरी को आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे और अलग-अलग ऊंचाई वाले इलाकों में हल्का हिमपात होने के आसार हैं, जबकि छह से 13 फरवरी तक मौसम शुष्क रहेगा।

मौसम कार्यालय ने बताया कि श्रीनगर में 5.3 सेमी हिमपात और 6.3 मिमी बारिश, काजीगुंड में 10.0 सेमी हिमपात और 13.0 मिमी बारिश, पहलगाम में 12.0 सेमी हिमपात और 14.2 मिमी बारिश, कुपवाड़ा में 21.0 सेमी हिमपात और 10.9 मिमी बारिश हुई। पिछले 24 घंटों के दौरान कोकेरनाग में 11.0 सेमी हिमपात और 12.2 मिमी वर्षा, और गुलमर्ग में 20.0 सेमी हिमपात और 21.8 मिमी वर्षा हुई।

श्रीनगर में रविवार को न्यूनतम तापमान शून्य से सात डिग्री सेल्सियस निचे दर्ज किया गया और मौसम की इस अवधि के दौरान जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी के लिए यह सामान्य था। हिमपात के बाद कश्मीर घाटी में अधिकतम तापमान चार से सात डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया। श्रीनगर में अधिकतम तापमान 1.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो पिछले दिन के सामान्य तापमान 8.9 डिग्री सेल्सियस से 7.2 डिग्री सेल्सियस कम था।

मौसम कार्यालय ने बताया कि श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय पर काजीगुंड में न्यूनतम तापमान क्रमशः शून्य से 2.2 डिग्री सेल्सियस नीचे, पहलगाम में शून्य से 3.5 डिग्री सेल्सियस कम कुपवाड़ा में शून्य से 2.3 डिग्री सेल्सियस कम, कोकेरनाग में शून्य से 3.0 डिग्री सेल्सियस और गुलमर्ग में शून्य से 7.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।