प्रेरणादायी: जेल में भजन—कीर्तन व दीप यज्ञ से माहौल बना भक्तिमय

👉 गायत्री परिवार अल्मोड़ा की टीम का नवरात्र के मौके पर भव्य संगीतमय कार्यक्रम डा. मीनाक्षी पांडेय के प्रभावकारी मार्गदर्शन से कई बंदीजनों ने नशा…

जेल में भजन—कीर्तन व दीप यज्ञ से माहौल बना भक्तिमय

👉 गायत्री परिवार अल्मोड़ा की टीम का नवरात्र के मौके पर भव्य संगीतमय कार्यक्रम

डा. मीनाक्षी पांडेय के प्रभावकारी मार्गदर्शन से कई बंदीजनों ने नशा व बुराई छोड़ने का लिया प्रण

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिला कारागार में आज भक्तिमय माहौल रहा। जहां सुंदर रंगोली सजाते हुए भव्य संगीतमय कार्यक्रम हुआ और भजन—कीर्तनों व दीप यज्ञ ने माहौल को भक्तिमय व प्रेरणादायी बनाने में चार चांद लगा दिए। यह सब गायत्री परिवार की टीम के सौजन्य से हुआ। इतना ही नहीं नशा व तनाव मुक्त और प्रसन्नचित्त रहने के लिए बंदीजनों का ऐसा प्रभावशाली मार्गदर्शन किया कि इससे प्रेरित होकर कई बंदीजनों ने नशा छोड़ने का संकल्प ले डाला।

दरअसल, गायत्री परिवार अल्मोड़ा के सदस्यों की टीम आज तय कार्यक्रम के मुताबिक जिला कारागार में पहुंची। जहां नवरात्र के उपलक्ष्य में नशामु​क्त व तनावमुक्त जीवन पर आधारित भव्य संगीतमय कार्यक्रम आयोजित कराया। इस मौके पर बंदीजनों ने नवरात्रि प्रार्थना कार्यक्रम के लिए सुंदर रंगोली सजाई और दीपदान के दीपक सजाए। कार्यक्रम में पहुंची लगातार जनसेवा में जुटी रहने वाली गायत्री परिवार की डा. मीनाक्षी पाण्डेय ने बंदीजनों को नशा और अन्य बुराईयों के दुष्प्रभाव बेहतरीन तरीके से समझाए।

उन्होंने नशा व तनाव मुक्त जीवन जीने के टिप्स देते हुए जीवन में बेहतरी लाने और तनावमुक्त रहकर प्रसन्नचित जीवन जीने के लिए प्रभावकारी मार्गदर्शन किया। उनकी मार्गदर्शन से प्रभावित होकर 15 बंदीजनों ने खड़े होकर चरस, स्मैक व अन्य प्रकार का नशा छोड़ने का संकल्प ले डाला, इनके अलावा कई अन्य बंदीजनों ने क्रोध व हिंसा को त्यागने का प्रण लिया। वहीं गायत्री परिवार के भीम सिंह अधिकारी ने कहा कि चरित्र निर्माण करना, श्रेष्ठ कार्यों में रत रहना एवं बुराईयों व कुरीतियों से मुक्त रहना ही धर्म है। उन्होंने कहा कि मनुष्य का विकास केवल कर्मकांडों से नहीं बल्कि अपने कर्मों व व्यवहार से होता है।

इस मौके पर गायत्री परिवार की महिला मंडली द्वारा नवरात्रि के उपलक्ष्य में भक्तिमय कार्यक्रम पेश किए। भजन—कीर्तन व प्रेरणाप्रद भजनों का प्रस्तुतीकरण हुआ। जेल रेडियो की टीम ने देवी माता के मंत्रमुग्ध करने वाले गीत प्रस्तुत किए। इससे पूरा माहौल भक्तिमय बन गया। वहीं दीप यज्ञ में वैदिक मंत्रों के जरिये जिला कारागार परिवार के स्वस्थ व प्रसन्न रहने की प्रार्थना की गई। अंत में जेल अधीक्षक जयंत पांगती ने गायत्री परिवार के सदस्यों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर दीपा जोशी, डा. मंजू बोरा, उर्मिला तिवारी, रीता पाण्डेय, उषा जोशी, मंजू जोशी, निर्मला अधिकारी, योगेश कनवाल, डा. जेसी दुर्गापाल, मोहन चंद्र पांडे, सतीश चंद्र जोशी, जिला कारागार स्टाफ के लोग व बंदीजन मौजूद रहे।