बागेश्वर: अवमुक्त धनराशि यथासमय शत—प्रतिशत व्यय करें

🖋️ जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने योजनाओं की समीक्षा के दौरान दिए निर्देश सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने जिला योजना, राज्य सेक्टर, केंद्र पोषित…

अवमुक्त धनराशि यथासमय शत—प्रतिशत व्यय करें

🖋️ जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने योजनाओं की समीक्षा के दौरान दिए निर्देश

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने जिला योजना, राज्य सेक्टर, केंद्र पोषित एवं बाह्य सहायतित योजनाओं में विभागों की प्रगति समीक्षा की। उन्होंने विकास कार्यों को गुणवत्ता के साथ शीघ्र पूरा करने और अवमुक्त धनराशि को शत प्रतिशत व्यय करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं को अंतिम छोर तक पहुंचाने के लिए मानिटरिंग एवं कार्य योजनाबद्ध तरीके से किया जाए। विभाग कार्यदायी संस्थाओं से निर्माण कार्यो की रिपोर्ट लेते हुए उनका सत्यापन करना सुनिश्चित करें।

कलेक्ट्रेट पर आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने निर्माण कार्यों का निरीक्षण और सत्यापन करने के निर्देश दिए। धरातल पर चालू एवं पूर्ण निर्माण कार्यों के सत्यापन के लिए गठित टास्क फोर्स विकास कार्यों का सत्यापन करेगी। आंख्या अर्थ एवं संख्या विभाग को देंगे। लापरवाही पर आवश्यक कार्रवाई की चेतावनी दी। जिला योजना में आवंटित धनराशि को प्रत्येक दशा में शत प्रतिशत व्यय करना सुनिश्चित करें। राज्य सेक्टर, केंद्र पोषित एवं बाह्य सहायतित योजना के अवशेष कार्यों में तेजी लाएं। बीस सूत्री कार्यक्रम में निर्धारित लक्ष्य हासिल करें। आपदा से जिन विभागों की परिसंपत्तियों की क्षति हुई है। उन सभी कार्यो के प्रस्ताव विभाग संबंधित को दें। बैठक में सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
यह धनराशि हुई व्यय

जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी ने दिनेश रावत ने बताया कि वित्तीय वर्ष में जिला योजना में अवमुक्त धनराशि 5519.19 लाख के सापेक्ष 82.89 प्रतिशत, राज्य सेक्टर में 17233.33 लाख के सापेक्ष 76.97 प्रतिशत, केंद्र पोषित में 19176.34 लाख के सापेक्ष 97.07 प्रतिशत धनराशि विभागों ने व्यय की है।