ALMORA/DEHRADOON: कोविड—19 की तीसरी लहर को लेकर मुख्यमंत्री ने अफसरों को किया सजग, वीसी के जरिये की कोरोना संक्रमण की रोकथाम व बचाव के कार्यों की समीक्षा, कई निर्देश दिए

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा/देहरादूनप्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शासन के वरिष्ठ अधिकारियों और सभी जिलों के जिला अधिकारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक…


सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा/देहरादून
प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शासन के वरिष्ठ अधिकारियों और सभी जिलों के जिला अधिकारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक लेकर कोरोना संक्रमण की रोकथाम और इससे बचाव के लिए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कोविड की तीसरी लहर को लेकर भी अफसरों को सजग करते हुए कहा कि इससे निपटने के लिए सभी तैयारियां समय पर कर ली जाएं। इसमें ढिलाई नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी लहर में खासकर बच्चों की सुरक्षा पर ध्यान फोकस करना है। इसके लिये जिला व ब्लॉक स्तर तक मैपिंग की जाय और उस अनुसार तीसरी लहर के आने से पहले सारी तैयारियां पुख्ता कर ली जाएं। उन्होंने कहा कि तैयारियों के लिए सभी जिलाधिकारी ग्राम वार पूरी प्लानिंग कर लें। मुख्यमंत्री ने ऐसे बच्चों के लिए विशेष योजना बनाने के निर्देश दिये, जिनके माता-पिता या परिवार के मुखिया की मौत कोरोना से हुई हो। ऐसे बच्चों जल्द से जल्द चिन्हीकरण करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। कालाबाजारी को रोकने के लिए लगातार जरूरी कार्रवाई की जाएं।

उत्तराखंड, अच्छी ख़बर : नए संक्रमितों की संख्या में आई गिरावट, मरने वालों की भी संख्या कम, 8 हजार 164 लोगों ने जीत ली कोरोना से जंग

मुख्यमंत्री ने कहा कि बायो मेडिकल वेस्ट डिस्पोजल पर ध्यान देने की जरूरत बताते हुए कहा कि इसके लिये नगर निकायों में शहरी विकास विभाग और ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायती राज विभाग के माध्यम से निस्तारण की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड को लेकर अधिक ध्यान देने और इसके लिए विकेंद्रीकृत योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। आशाओं व एएनएम की सही तरीके से ट्रेनिंग देने की बात कही। उन्होंने कहा कि जहां तक सम्भव हो, दूरस्थ क्षेत्रों के लिए मोबाईल टेस्टिंग वैन, मोबाईल लैब, सेम्पलिंग वैन की व्यवस्था की जाय। गांव-गांव, घर-घर तक जरूरी मेडिकल किट व दवाओं की उपलब्धता की जाए।

सीएम बोले कि वैक्सीनेशन के लिए धन की कमी नहीं है। हर सम्भव प्रयास कर वैक्सीनैशन प्रक्रिया में तेजी लानी है। प्रस्तावित और निर्माणाधीन आक्सीजन जेनरेशन प्लांट को जल्द पूरा किया जाए। उन्होंने आक्सीजन आपूर्ति में सुधार बनाये, सभी आईसीयू संचालित करने, कोविड से सम्बंधित सूचनाओं की रियल टाईम डाटा एन्ट्री सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि डेंगू से बचाव के लिए भी तैयारियां की जाएं। बैठक में मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिंग को बढ़ाने की जरूरत है। जनजागरूकता में ग्राम समितियों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए।

Breaking : अल्मोड़ा में आज शनिवार को मिले 127 नए संक्रमित

आक्सीजन की व्यवस्था व आपूर्ति मानसून को ध्यान में रखते हुए कर ली जाए। वीसी के दौरान अल्मोड़ा से जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने जनपद में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम व बचाव के लिये हो रहे कार्यों व वैक्सीनेशन की स्थिति की विस्तृत जानकारी मुख्यमंत्री को दी। अल्मोड़ा से इस वीसी में जिलाधिकारी के अलावा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट, मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे, प्राचार्य मेडिकल कालेज डा. आरजी नौटियाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. सविता हयांकी, डा. अजय आर्य, डा. अनिल ढींगरा, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी आदि उपस्थित थे।

रोचक : यहां सरेआम बिकी Corona की जादुई ‘आयुर्वेदिक दवा’ ! दस हजार से अधिक की उमड़ पड़ी भीड़ और खत्म हो गया पूरा stock, रोकने के बजाए दवा पर Research करने में जुटा है सरकारी अमला….

हमारे WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

अब उत्तराखंड में भी Black fungus माहमारी घोषित, शासन ने जारी किये दिशा-निर्देश, अब तक हो चुकी हैं 05 मौतें

Uttarakhand : सोशल मीडिया पर चल रहा गंदा खेल ! Honey trapping से रहें सावधान, अंजान महिला से दोस्ती पड़ सकती है भारी

Delhi में अचानक रोक दिया गया 18 प्लस का टीकारण, बोले केजरीवाल खत्म हो गई केंद्र से भेजी डोज

उत्तराखंड : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां शुरू, इस Hospital में तैयार हुआ बच्चों के लिए 55 Oxygen bed hospital, 90 बेड बढ़ाने पर चल रहा काम

कोरोना की दूसरी लहर में 420 डॉक्टरों की मौत – IMA

बड़ी ख़बर : कोरोना मरीजों के Life-saving के रूप में बहु प्रचारित ‘रेमडेसिवर’ को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने किया Protocol list से बाहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *