10 नवंबर तक स्कूल बंद, दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर

नई दिल्ली | दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है। स्विस ग्रुप IQAir के रियल टाइम डेटा के मुताबिक, रविवार सुबह 11:45 बजे…

10 नवंबर तक स्कूल बंद, दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर

नई दिल्ली | दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है। स्विस ग्रुप IQAir के रियल टाइम डेटा के मुताबिक, रविवार सुबह 11:45 बजे दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 701 दर्ज किया गया। वहीं, सुबह 7:30 बजे दिल्ली का AQI 483 था।

वर्ल्ड एयर क्वालिटी इंडेक्स के मुताबिक दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के तीन शहर शामिल हैं। इनमें दिल्ली टॉप पर है, जबकि कोलकाता (AQI 206) तीसरे और मुंबई (AQI 162) पांचवें नंबर पर है। पाकिस्तान का लाहौर शहर दूसरे नंबर पर है।

10 नवंबर तक स्कूल बंद

दिल्ली में पिछले चार दिनों से हवा जहरीली बनी हुई है। दिल्ली सरकार ने प्राइमरी स्कूलों को 10 नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया है। दिल्ली की शिक्षा मंत्री आतिशी ने X पर स्कूलों को बंद रखने की जानकारी दी। उन्होंने कहा चूंकि प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ा हुआ है इसलिए दिल्ली में प्राथमिक स्कूल 10 नवंबर तक बंद रहेंगे। उन्होंने कहा कि कक्षा 6 से 12वीं तक के लिए स्कूलों को ऑनलाइन में शिफ्ट होने का विकल्प दिया जा रहा है। इससे पहले सीएम अरविंद केजरीवाल ने 3 और 4 नवंबर को स्कूल बंद करने का निर्देश दिया था।

दिल्ली में GRAP-3 लागू, गैर-जरूरी निर्माण-तोड़फोड़ पर रोक

हवा की क्वालिटी खराब होने पर कमीशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट (CAQM) ने 3 नवंबर को दिल्ली-NCR में ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (GRAP) के थर्ड स्टेज को लागू कर दिया। GRAP का स्टेज III तब लागू किया जाता है, जब AQI 401-450 की सीमा में गंभीर हो जाता है।

GRAP-3 लागू होने के बाद दिल्ली में गैर-जरूरी निर्माण-तोड़फोड़ और रेस्टोरेंट में कोयले के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। BS-3 पेट्रोल और BS-4 डीजल चार पहिया वाहनों के इस्तेमाल पर सरकार ने 20 हजार रुपए चालान काटने का निर्देश दिया है।

डॉक्टर बोले- प्रेग्नेंट महिलाओं और बच्चों को सबसे ज्यादा खतरा

दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पीटल के डॉक्टर नीरज गुप्ता ने कहा कि प्रदूषण का सबसे ज्यादा खतरा प्रेग्नेंट महिलाओं और बच्चों में होता है। खराब एयर क्वालिटी प्रेग्नेंट महिलाओं के पेट में पल रहे बच्चे को भी नुकसान पहुंचाती है।

प्रदूषण से स्किन और दिल से जुड़ी बीमारियों होने का खतरा रहता है। इसके अलावा डायबिटीज, अल्जाइमर और लगातार सिरदर्द हो सकता है। AQI बढ़ने का असर रेस्पिरेटरी सिस्टम पर भी पड़ता है। जैसे-जैसे AQI बढ़ता है, छोटे बच्चों के दिमागी विकास पर बुरा असर पड़ता है। उनकी मानसिक शक्ति कम होने लगती है।

वैज्ञानिक बोले- और खराब होगी दिल्ली की हवा

दिल्ली में बढ़ते पॉल्यूशन को लेकर वैज्ञानिकों ने चिंता जताई है। उनके मुताबिक आने वाले दिनों में दिल्ली की हवा और खराब हो सकती है। साथ ही वैज्ञानिकों ने बारिश का कम होना प्रदूषण के बढ़ने की बड़ी वजह बताई। इस साल अक्टूबर में सिर्फ एक दिन 5.4 मिमी बारिश हुई। जबकि अक्टूबर 2022 में 6 दिन 129 मिमी और अक्टूबर 2021 में 7 दिन 123 मिमी बारिश हुई थी।