ब्रेकिंग नैनीताल: देर रात अचानक डीएम एसएसपी पहुंच गए मुडकुडिया-हैड़ाखान की टूटी सड़क देखने, पढ़िए क्या हुआ आगे

भीमताल। विकास खण्ड ओखलकांडा के दर्जनों गांवों के अलावा हेडाखान तथा रीठासाहब धाम को जोडने वाला मुडकुडिया हैडाखान सड़क विगत दो माह से भारी भूस्खलन…

भीमताल। विकास खण्ड ओखलकांडा के दर्जनों गांवों के अलावा हेडाखान तथा रीठासाहब धाम को जोडने वाला मुडकुडिया हैडाखान सड़क विगत दो माह से भारी भूस्खलन के कारण क्षतिग्रस्त हो गयी थी। जिसके कारण इस मार्ग पर पिछले दो माह से सभी प्रकार का आवागमन बन्द है। शनिवार की देर रात जिलाधिकारी सविन बंसल ने लोनिवि के अधिकारियों के साथ क्षतिग्रस्त स्थल का निरीक्षण किया। गौरतलब है कि इस मार्ग के क्षतिग्रस्त होने से मुडकुडिया, लुगड, खनस्यू गलनी, पतलोट, झडगांव, देवली, गुनियारो, अघोड़ा, मिडार, मनपोखरा, देवली,ताल, जामरानी, सिमलियाबैड, जैनचमुली, डालकन्डिया,कोन्ता, पटरानी, ककोडा तथा गाजा गांव प्रभावित है।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी को मौके पर मौजूद गांववालों ने बताया कि मुडकुडिया गावं के ऊपर पहाडी पर बसे गांवों एवं तोकों को काफी खतरा है। जिलाधिकारी बंसल ने मकानों के लिए सुरक्षा के कार्य प्राथमिकता के आधार पर कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दरक रही पहाडी के ट्रीटमेंट के लिए टिहरी हाइड्रो डप्लपमेंट कारपोरेशन से पत्राचार एवं सम्पर्क किया जाए। उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त सडक की डीपीआर तैयार की जा रही है। डीपीआर बनाने तथा वैकल्पिक मार्ग खोलने के लिए 2.54 लाख की धनराशि लोक निर्माण विभाग को दे दी गई है।

डीपीआर के अनुसार धन आवंटन के लिए शासन से अनुश्रवण किया जायेगा तथा लाकडाउन खुलने के उपरान्त ही कार्य करना सम्भव होगा। सडक के पुनःनिर्माण एवं आवागमन सुचारू करने के लिए प्रशासन प्रयत्नशील है। निरीक्षण के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि रणजीत सिह रावत,अधिशासी अभियन्ता लोनिवि दीपक गुप्ता,उपजिलाधिकारी विनोद कुमार आदि उपस्थित थे। जिलाधिकारी द्वारा अभियन्ताओं के साथ सड़क खोलने के तथा निर्माण सम्बन्धी तकनीकी पक्ष पर भी चर्चा की।