गरमपानी : बाधित सड़क खोलने के दौरान दरक गया पहाड़, बाल-बाल बची जान

✒️ एसडीआरएफ व पुलिस टीम पर पहाड़ से बरसी आफत ✒️ हर तरफ जाम का झाम, घंटों झेली फजीहत ✒️ कई आवासीय भवन और गौशाला…


✒️ एसडीआरएफ व पुलिस टीम पर पहाड़ से बरसी आफत

✒️ हर तरफ जाम का झाम, घंटों झेली फजीहत

✒️ कई आवासीय भवन और गौशाला ध्वस्त, मवेशी दबे

सीएनई रिपोर्टर, गरमपानी/खैरना

चार दिन की बारिश के बाद हालांकि आज कुछ समय के लिए धूप खिल आई, लेकिन बारिश के बाद गरमपानी- भवाली अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग में तबाही का मंजर साफ देखा जा रहा है। गरमपानी बाजार में आज मंगलवार सुबह भारी बारिश के चलते थुवा की पहाड़ी से आवासी मकानों के आगे से भारी मलबे के साथ विशाल बोल्डर आ गए। वहीं, एक आवासीय भवन और गौशाला भी ध्वस्त हो गई।

बारिश के चलते पहाड़ से जबरदस्त गधेरे के साथ सड़क के बीचों बीच एक विशाल बोल्डर और पेड़ सड़क में आ गया। जिसके बाद अफरा-तफरी मच गई और कई किमी लंबा जाम लग गया। इस विपरीत परिस्थिति में स्थानीय लोगों ने स्वयं पहल करते हुए पेड़ को आधा काट दिया। वहीं, सूचना मिलने पर खैरना चौकी इंचार्ज दिलीप कुमार तथा एसडीआरएफ की टीम भी पेड़ हटाने में जुट गयी, लेकिन इसी बीच एक बार फिर से पहाड़ी से भारी मलबा आ गया। जिस कारण वाहन चालकों में भगदड़ मच गई और कई लोग अपना वाहन छोड़ भाग खड़े हुए। पुलिस व एसडीआरएफ टीम भी बाल-बाल बची और कुछ देर अभियान को भी रोकना पड़ा। जब पहाड़ी से मलबा आना रूका तब जाकर बोल्डर तथा पेड़ को हटाया जा सका।

धरधरा कर गिरा मकान और गौशाला

बारिश के चलते जाख निवासी सुरेन्द्र सिंह अधिकारी की गौशाला भी ध्वस्त हो गई। जिसमें दबने से एक मवेशी की भी मौत हो गई। वहीं, सुयालबाड़ी निवासी मोहन राम पुत्र पदी राम ग्राम कमोली तथा ईश्वर सिंह पुत्र आन सिंह ग्राम सिमलखा का आवसीय भवन पूर्ण रूप से ध्वस्त हो गया। वहीं, गुड्डी देवी पत्नी गोपाल राम ग्राम दरमानी तथा विशनी देवी पत्नी मधी राम निवासी व्यासी का आवासीय भवन भी ध्वस्त हो गया। इधर प्रसाशन द्वारा प्रभावितों को अन्यत्र शिफ्ट कर दिया गया है। हालातों पर नजर रखी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *