मौत को चकमा दे वापस लौट आया मोहित कुमार ! जाको राखे साइयां…

📌 पढ़िये कहानी, 18 साल के लड़के ने कैसे दी मौत को मात ”जाको राखे साइयां, मार सके न कोय”। कहते हैं कि ईश्वर जिसके…

मौत को चकमा दे वापस लौट आया मोहित कुमार ! जाको राखे साइयां

📌 पढ़िये कहानी, 18 साल के लड़के ने कैसे दी मौत को मात

”जाको राखे साइयां, मार सके न कोय”। कहते हैं कि ईश्वर जिसके साथ होता है, उसका काल भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता। ऐसा ही कुछ यहां गत दिनों यहां घटित हुआ है।

अल्मोड़ा—हल्द्वानी हाईवे पर हुआ था हादसा

गत 11 मई को अल्मोड़ा—हल्द्वानी हाईवे पर कतियागाड़ के पास एक भीषण सड़क दुर्घटना हुई थी। जिसमें अल्मोड़ा का लमगड़ा निवासी 18 साल का मोहित कुमार घायल हो गया था। वह पिकप सहित सीधे निर्माणाधीन पुलिया पर जा गिरा। दुर्घटना में एक 05 सूद का सरिया उसकी छाती को भेदता हुआ आर—पार हो गया। जिसने भी यह नजारा देखा शायद ही उनमें से ​कोई रात को सो पाया होगा।

छाती को चीर गई थी 05 सूद की सरिया

सरिया एक तरफ से घुस दूसरी तरफ से छाती चीरता हुआ युवक के बाहर निकला हुआ था। खैरना चौकी पुलिस के सिपाही व स्थानीय नागरिकों ने उसका रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया था। प्रत्यक्षदर्शियों ने सीएनई को बताया कि इस लड़के की हिम्मत की दाद देनी चाहिए। छाती के आर—पार सरिया घुसा था, लेकिन इसकी आंखों में एक आंसू नहीं था। ना ही वह रो—चिल्ला रहा था। इस 18 साल के लड़के को इतना साहस केवल कोई दैवीय शक्ति ही दे सकती है।

रात डेढ़ बजे पहुंचा था ऋषिकेश

मोहित कुमार को पहले सीएचसी ले जाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद हल्द्वानी सुशीला तिवारी (Sushila Tiwari Hospital) भेज दिया गया। सुशीला तिवारी के चिकित्सकों ने उसकी हालत की गंभीरता को समझा और तुरंत एम्स ऋषिकेश एंबूलेंस से भेज दिया। घायल मोहित इसी हालत में रात डेढ़ बजे ऋषिकेश पहुंचा।

चिकित्सकों को भी नहीं था भरोसा

सूत्र बताते हैं वहां मोहित की यह हालत देख मेडिकल स्टॉफ को भी उसके बचने की बहुत कम उम्मीद थी। इसके बावजूद चिकित्सकों ने हिम्मत नहीं हारी। वहां डॉक्टर माथुर उनियाल के नेतृत्व में पूरे चार घंटे सर्जरी चली। जिसके बाद सरिया ​सफलतापूर्वक निकाल लिया गया।

इसे ईश्वर की कृपा ही कहेंगे

हालांकि तब भी यह डर था कि सरिया निकलने के बावजूद मोहित के जीवन को खतरा है। लेकिन यह बहादुर लड़का मौत के मुंह से वापस आ गया है। इस घटना ने यह साबित कर दिया है कि जिसकी रक्षा भगवान करते हैं, उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। जीवन और मौत इंसान के लिए ईश्वर के हाथ में है।

ऋषिकेश पहुंचे विधायक मोहन सिंह मेहरा, जाना मोहित का हाल

विधायक जागेश्वर मोहन सिंह मेहरा ने AIIMS ऋषिकेश पहुंच घायल मोहित कुमार का हाल जाना। उन्होंने कहा कि गत 11 मई, 2023 को यहां सुयालबाड़ी के निकट कतियागाड़ नामक स्थान पर भयानक हादसा हुआ था। इस हादसे में भी यह लड़का बच गया है। इसके लिए वह अस्पताल के तमाम चिकित्सकों का आभार व्यक्त करते हैं। उन्होंने बालक को हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।

दु:खद — पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी का निधन

सीएनई में पूर्व प्रकाशित संबंधित खबरों के लिंक —