हल्द्वानी न्यूज़ : शहर में हो रही पेयजल की समस्या का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण

हल्द्वानी। विगत दिनों में हल्द्वानी में हो रही पेयजल की समीक्षा का संज्ञान लेते हुये जिलाधिकारी सविन बंसल ने शनिवार की देर सांय को गौला…

हल्द्वानी। विगत दिनों में हल्द्वानी में हो रही पेयजल की समीक्षा का संज्ञान लेते हुये जिलाधिकारी सविन बंसल ने शनिवार की देर सांय को गौला बैराज से शीशमहल फिल्टरेशन प्लांट को आ रही सिंचाई विभाग की नहर के विभन्न स्थानों में चल रहें मरम्मत कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया। महानगर तथा उसके आसपास के इलाके के लोगों को सुचारू एवं पर्याप्त पेयजल उपलब्ध हो तथा लोगों को पेयजल की किल्लत से निजात मिले इसके लिए जिलाधिकारी काफी सजग व तत्पर है। महानगर की बडी आबादी को पेयजल आपूर्ति करने के लिए नलकूपों के अलावा गौला नदी एक विकल्प के तौर पर है। गौला के जरिये बेहतर पानी की सप्लाई हो इसलिए जिलाधिकारी ने पूरी संजीदगी के साथ संज्ञान लेते हुये जल संस्थान तथा सिंचाई महकमें को 68 लाख की धनराशि खनन न्यास निधि से पूर्व में ही जारी कर दी है।

बताते चलें कि जिलाधिकारी बंसल ने माह फरवरी में गौला बैराज से नहर के माध्यम से फिल्टरेशन प्लांट तक आने वाली नहर तथा शीतलाहाट फिल्टरेशन प्लांट का निरीक्षण किया था। निरीक्षण दौरान जिलाधिकारी ने देखा था कि गौला बैराज से शीशमहल फिल्टर प्लांट तक आने वाली नहर कई जगह क्षतिगस्त है जिससे नहर का लगभग 40 प्रतिशत पानी लीकेज के कारण बर्बाद हो जाता है। जिलाधिकारी ने मौका मुआयना उपरान्त गौला बैराज से फिल्टर प्लांट तक आने वाली नहर की मरम्मत हेतु सिंचाई विभाग को 31 लाख की धनराशि पूर्व में अवमुक्त कर दी थी। इसी तरह जिलाधिकारी ने पूर्व में शीतलाहाट फिल्टर प्लांट का भी निरीक्षण किया था, निरीक्षण के दौरान उन्होंने शीतलाहाट गधेरे का भी निरीक्षण किया था, तब यह तथ्य सामने आया कि गधेरे से बरसात में पानी ओवरप्लो होकर गौला नदी में चला जाता है इस तरह पानी की बर्बादी हो रही थी।

जिससे महानगर वासियो को पर्याप्त जलापूर्ति करने में विभाग को परेशानी का सामना करना पड रहा था। जिस पर जिलाधिकारी ने शीतलाहाट गधेरे से शीतलाहाट फिल्टर प्लांट तक पेयजल लाइन बिछाने हेतु 20 लाख की धनराशि खनन न्यास निधि से निर्गत की थी। इससे शीतलाहाटा फिल्टरेशन प्लांट की 30 प्रतिशत बर्बाद हो रहे पानी की उपलब्धता बढ जायेगी जिससे शहर की पेयजल आपूर्ति में सुधार होगा। इसी तरह शीशमहल फिल्टर प्लांट के अन्तर्गत सीसी टीवी कैमरा लगाने तथा मरम्मत कार्य एवं सिविल एवं इलेक्ट्रीकल मेंकेनिकल कार्यो हेतु 17 लाख की धनराशि न्यास निधि से आवंटित की थी। इन सभी कार्यो की प्रगति का जिलाधिकारी बंसल ने मौका मुआयना किया गया तथा कार्य प्रगति के निर्देश अधिकारियों को दिये।

जिलाधिकारी बंसल ने कहा कि गौला बैराज से पेयजल आपूर्ति के लिए आने वाली नहर मरम्मत कार्य के लिए आने वाले दिनों में कम से कम तीन दिन बन्द रखी जायेगी तथा नहर बन्द के दौरान शहर व अन्य इलाकों को पेयजल आपूर्ति टैकरों एवं नलकूपों के माध्यम से की जायेगी। जिलाधिकारी द्वारा मौके पर ही विभागीय अधिकारियो का आवश्यक निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने गौलाबैराज कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया व पाया कि गौला बैराज में कार्य प्रगति पर है गेटों का लगभग कार्य पूर्ण हो गया है। ग्रेनाइट बिछाने का कार्य चल रहा है जो एक सप्ताह में पूर्ण हो जायेगा। जिलाधिकारी के गोलाबैराज के पूर्व भ्रमण में सिंचाई विभाग को बैराज में आपदा मैकेनिजम तैनात करने के निर्देश दिये थे भ्रमण दौरान आपदा मैकेनिजम भी तैनात पाया गया।

उन्होंने कहा कि गौला बैराज के निरीक्षण परीक्षण हेतु शासन से आइआईटी रूडकी विशेषज्ञ की टीम भेजने का आग्रह किया गया था। जिसकी स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है रूडकी की टीम बैराज के परीक्षण हेतु शीघ्र जनपद में आने वाली है। निरीक्षण के दौरान अधीक्षण अभियन्ता सिंचाई संजय शुक्ला, उपजिलाधिकारी विवेक राय, अपर पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई तरूण बंसल, जलसंस्थान विशाल सक्सेना तथा सिंचाई महकमें के अन्य अभियन्ता मौजूद थे।