फोर्टिफाइड चावल पोष्टिक, भ्रम ना पालें: मनोज बर्मन

✒️ जिला पूर्ति अधिकारी बागेश्वर ने शिकायतों पर स्पष्ट किया मामला सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार बर्मन ने फोर्टिफाइड चावल को लेकर…

फोर्टिफाइड चावल पोष्टिक, भ्रम ना पालें: मनोज बर्मन

✒️ जिला पूर्ति अधिकारी बागेश्वर ने शिकायतों पर स्पष्ट किया मामला

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार बर्मन ने फोर्टिफाइड चावल को लेकर मिल रही शिकायतों के बाबत कहा है कि लोगों में इसे लेकर भ्रम की स्थिति है। कुछ लोग चावल पर सवाल उठा रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं है, बल्कि फोर्टिफाइड राइस में भरपूर पोषणयुक्त गुण हैं।

अपने कार्यालय पर पत्रकारों से मुखातिब होकर बर्मन ने कहा कि सरकार ने चावल को फोर्टिफाइड किया है। जिसे खाने से अब पोषक तत्व भी मिल रहे हैं। यह चावल शरीर के लिए लाभकारी है। फोर्टिफाइड राइस में आयरन, विटामिन बी-12, फालिक एसिड, जिंक आदि पोषक तत्वर भरपूर मात्रा में हैं। जिसके सेवन से कुपोषण और एनीमिया आदि बीमारियों से राहत मिलती है। सरकार फोर्टिफाइड चावल का सेवन करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित कर रही है। उन्होंने कहा कि साधारणतया चावल पर पोषक तत्वों की एक परत चढ़ाई जाती है। इसके अलावा इसे पीसकर भी इसमें सुक्ष्म तत्वों को मिला जा सकता है। मशीन की मदद से चावल का आकार देकर सुखाया जाता है। इस प्रक्रिया से फोर्टिफाइड राइस तैयार हो जाता है।

जिला पूर्ति अधिकारी ने कहा कि जिले के 461 सस्ता गल्ला दुकानों पर यह चावल भेजा जा रहा है। 62443 कार्डधारक हैं। 2,54,925 लोग शामिल हैं। इसके अलावा 562 प्राथमिक विद्यालय, 221 जूनियर और 834 आंगनबाड़ी केंद्रों पर भी यह राइस पहुंचाया गया है।