बागेश्वर: उपेक्षा खिन्न होकर शामा के लोगों का कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन

👉 सड़कों में सुधार नहीं होने पर उग्र आंदोलन की धमकी सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: शामा के ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। उन्होंने जिला पंचायत…

उपेक्षा खिन्न होकर शामा के लोगों का कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन

👉 सड़कों में सुधार नहीं होने पर उग्र आंदोलन की धमकी

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: शामा के ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। उन्होंने जिला पंचायत शामा क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाया। सड़कों की मरम्मत और डामरीकरण की मांग की। ऐसा नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

मंगलवार को शामा क्षेत्र के समाजसेवी भूपेंद्र कोरंगा के नेतृत्व में ग्रामीण कलक्ट्रेट पहुंचे। यहां नारेबाजी के साथ प्रदर्शन किया। जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। कहा कि सड़कों की हालत बयां करने लायक नहीं है। वाहन चालक सबसे अधिक परेशान हैं। बैंकों से ऋण लेकर वाहन खरीदे हैं। वह कमाई से अधिक नुकसान में हैं। उन्होंने रिठकुला-गोगिना सड़क पर डामरीकरण की मांग की। कहा कि यह सड़क पीएमजीएसवाइ की है। वर्षा ऋतु में टेंडर हुए। सड़क कई बार बंद हुई। लेकिन खोलने के भी प्रयास नहीं किए गए। वाहन चालक और यात्री पत्थर, मलबा हटा कर यात्रा करते रहे।

उन्होंने कहा कि शामा-लीती-रिठकुला सड़क पर अनगिनत गड्ढे हैं। गोगिना-कीमू, शामा-नानी पन्याली-डांगटी, भनार-माजखेत आदि सड़कों की मरम्मत और डामरीकरण नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि शामा जिला पंचायत क्षेत्र की उपेक्षा हुई तो वह उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। इस दौरान डिगर कोरंगा, दुर्गा मेहता, दिनेश मेहता, यशवंत सिंह, नरेश मेहता, भूपाल मेहता, योगेश कोरंगा, मुकेश कोरंगा, ग्राम प्रधान नारायण मेहता, प्रवीन रौतेला, दीपक कोरंगा, नारायण कोरंगा आदि उपस्थित थे।