श्रावण मास : बेतालेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं ने भगवान को लगाया अनाज, फल—सब्जियों का भोग, भनारगूंठ व नैनीकुमस्याल में वर्षों से कायम है अद्भुत परंपरा

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा शिव भूमि ग्राम भनारगूंठ व नैनीकुमस्याल ने आज अपने पूर्वजों द्वारा शुरू की गई पुरातन परंपरा का निर्वहन करते हुए पवित्र श्रावण…


सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

शिव भूमि ग्राम भनारगूंठ व नैनीकुमस्याल ने आज अपने पूर्वजों द्वारा शुरू की गई पुरातन परंपरा का निर्वहन करते हुए पवित्र श्रावण मास में बेतालेश्वर शिव मंदिर में खेतों में उगाये गये अनाज व फल—सब्जियों का भोग भगवान को लगाया। विधिवत पूजन के साथ बरगद के वृक्ष पौध का भी रोपण किया गया।

उल्लेखनीय है कि अपार आस्था के केंद्र ऐतिहासिक बेतालेश्वर शिव मंदिर के निकट बसे ग्राम भनारगूंठ व नैनीकुमस्याल स्वयं को शिव भूमि के अंतर्गत स्थापित मानते हैं। यहां प्रति वर्ष श्रावण मास में ग्रामीण अपनी भूमि में उगाये गये अनाज, सब्जी, फल इत्यादि का भोग सर्वप्रथम भगवान शिव को लगाते हैं। यह परंपरा वर्षों से चली आ रही है और आज भी कायम है।

रविवार को भोग पूजन के बाद प्रसाद वितरण किया गया। यह संपूर्ण कार्यक्रम कोविड नियमों के अनुपालन के साथ ही किया गया। इस अवसर पर ग्राम की महिलाओं ने महंत कैलाश गिरि महाराज के सहयोग से पूजा—अर्चना के साथ बरगत वृक्ष पौध का रोपण किया। साथ ही इस वृक्ष के पल्लवित होने तक संरक्षण का संकल्प भी लिया। इस मौके पर हरियाली गीतों का गायन आकर्षण का केंद्र रहा।

इस आयोजन में शीला उप्रेती, मोनिका जोशी, कमला पांडे, नीमा जोशी, रेखा जोशी, पुष्पा जोशी, शोभा​ तिवाड़ी, विद्या जोशी, कैलाश जोशी, कमलेश जोशी, हरीश जोशी, भाष्कर जोशी, विजयानंद, सुमित जोशी, पूरन पांडे, हेम चंद्र जोशी, संतोष जोशी, महेश जोशी, भाष्कर जोशी, वन पंचायत सरपंच भनारगूंठ के अलावा बेतालेश्वर मंदिर समिति के उपाध्यक्ष राजेंद्र बिष्ट, पुजारी दिनेश जोशी आदि उपस्थित रहे। पूजन पंडित भुवन जोशी द्वारा संपन्न कराया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *