बागेश्वरः पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित होने से होंगे कई लाभः डीएम

ट्रैक रूट के कार्यों को अंजाम देने के निर्देश दिएसीएनई रिपोर्टर, बागेश्वरजिलाधिकारी रीना जोशी ने कहा कि पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित किया…


  • ट्रैक रूट के कार्यों को अंजाम देने के निर्देश दिए
    सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर
    जिलाधिकारी रीना जोशी ने कहा कि पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित किया गयाहै। इससे जिले का नाम पूरे विश्व में आगे बढ़ेगा। साथ ही कफनी, सुंदरढूंगा ग्लेशियरों को भी पहचान मिलेगी। बागेश्वर जिला ट्रैकिंग का मुख्य केंद्र बनेगा। इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेगा और लोगों को भी लाभ मिलेगा।

यहां आयोजित संबंधित एक बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार राज्य के प्रसिद्ध जगहों को चिह्नित कर ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित कर रही है, जिसका एकमात्र मकसद राज्य में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देना है। इस बार पिंडारी ग्लेशियर को ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित किया हैं, जो खुशी की बात है। जिलाधिकारी ने कहा कि साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में अपार संभावनाओं को देखते हुए सरकार ने ये कदम उठाया है। इससे जहां देशभर के पर्यटक पहाडों की ओर रूख करेंगे, वहीं स्थानीय लोंगो को रोजगार के संसाधन भी मुहैया होंगे। उन्होंने कहा कि अक्टूबर में संभावित ट्रैक रूट पर तैयारियां एवं आवश्यक व्यवस्थाएं बेहतर ढंग से की जाए, तांकि आने वाले ट्रैकर, पर्यटक एक अच्छा संदेश लेकर जाएं। उन्होंने कहा कि कोई भी ट्रैकर बिना पंजीकरण के ट्रैकिंग पर न जाए, वन विभाग इसका विशेष ध्यान दें, बकायदा वन विभाग अपनी चौकियों पर ट्रैकरों सहित उनके पूरे सामान को सूचीबद्ध करेगा, तथा इसकी प्रतिदिन की सूचना कंट्रोल रूम को भी देना सुनिश्चित करेंगे। सभी ट्रैकर अपना अजैविक-जैविक कूड़ा अपने साथ अनिवार्य रूप से वापस लेकर आएंगे, ताकि ग्लेशियरों में किसी भी प्रकार की गंदगी न हो।

जिलाधिकारी ने ईई लोनिवि को ट्रैक रूट दूरूस्त रखने, भू-स्खलन वाले स्थानों पर सुरक्षा दीवार लगाने, विभिन्न स्थानों पर बैंचेज लगाने, शौचालयों का मरम्मत कार्य कराने के साथ ही ट्रैक रूट पर साईनेज लगाने के निर्देश दिए। बैठक में पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी चंद्र सिंह इमलाल, उपजिलाधिकारी हरगिरि, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत राजेश कुमार, ईई लोनिवि संजय पांडे, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या, वन क्षेत्राधिकारी शंकर दत्त पांडे आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *