खुशखबरी! सिर्फ एक डोज में कोरोना हो जाएगा छू मंतर, साल के अंत में भारत में आ सकती है वैक्सीन

नई दिल्ली। कोरोना संकट की तनाव भरी खबरों के बीच एक राहत भरी खबर ब्रिटेन से आ रही है। कोरोना का वैक्सीन बनाने की जद्दोजहद…

नई दिल्ली। कोरोना संकट की तनाव भरी खबरों के बीच एक राहत भरी खबर ब्रिटेन से आ रही है। कोरोना का वैक्सीन बनाने की जद्दोजहद में लगे वैज्ञानिकों का दावा है कि साल के अंत तक भारत को कोरोना से लड़ने के लिए वैक्सीन मिल सकती है। ब्रिटेन की ऑक्सफॉर्ड यूनिवर्सिटी में भी इसका ट्रायल शुरू हो रहा है।
विश्व प्रसिद्ध वैक्सीनोलॉजिस्ट और प्रोफेसर एड्रियन हिल का दावा है कि सितंबर तक दुनिया में पहली वैक्सीन आ जाएगी, जो कोरोना को मात देने में मदद करेगी। प्रोफेसर हिल का कहना है कि अगर ट्रायल पूरी तरह से ठीक गया तो सितंबर के बाद इस दवाई की सप्लाई शुरू होगी। भारत में भी ये दवाई साल के अंत तक आ सकती है।
इस वैक्सीन बनाने को लेकर बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहे एड्रियन हिल ने बताया कि अभी कई वैक्सीन ट्रायल के रूटीन में हैं, ऑक्सफॉर्ड में भी ऐसी ही एक वैक्सीन पर काम चल रहा है। हमें उम्मीद है कि इस ट्रायल में हम सफल होंगे, जिसके बाद हमारा फोकस अधिक से अधिक वैक्सीन बनाने पर काम करेंगे।
प्रोफेसर एड्रियन हिल के मुताबिक, जो ट्रायल में संकेत मिल रहे हैं उसके तहत कोरोना वायरस को लेकर सिर्फ एक डोज़ काम कर पाएगी।