अल्मोड़ा में कांग्रेसजनों ने अंकिता भंडारी को दी श्रद्धांजलि

👉 बहुचर्चित हत्याकांड को एक साल होने पर श्रद्धांजलि सभा👉 वीआइपी का खुलासा नहीं होने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिला कांग्रेस…

अल्मोड़ा में कांग्रेसजनों ने अंकिता भंडारी को दी श्रद्धांजलि

👉 बहुचर्चित हत्याकांड को एक साल होने पर श्रद्धांजलि सभा
👉 वीआइपी का खुलासा नहीं होने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिला कांग्रेस कमेटी अल्मोड़ा के तत्वावधान में आज शाम गांधी पार्क चौघानपाटा में स्व. अंकिता भंडारी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड को एक साल पूरे होने पर श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई। इस मौके पर कांग्रेसजनों ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने एक साल बाद भी प्रकरण में आए वीआईपी का नाम उजागर नहीं किया और साक्ष्य मिटाने वालों के खिलाफ मुकदमा नहीं हुआ।

श्रद्धांजलि सभा में कांग्रेस जिलाध्यक्ष कांग्रेस भूपेंद्र सिंह भोज ‘गुड्डू’ ने कहा कि 18 सितंबर 2022 को अंकिता भंडारी की हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड को आज एक साल पूरा हो चुका है, लेकिन स्व. अंकिता भंडारी को आज तक न्याय नहीं मिला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अंकिता भंडारी की हत्या की जांच सीबीआई या उच्च न्यायालय के जज से कराने की पुरजोर मांग की और इस मांग को लेकर कई आंदोलन भी किए, किंतु प्रदेश सरकार ने इस मांग को अनसुना कर दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में प्रकाश में आए वीआईपी के नाम का खुलासा आज तक नहीं हुआ और इस मसले पर भाजपा सरकार चुप्पी साधे है। इसके अलावा जिन लोगों ने साक्ष्य नष्ट करने का काम किया, उन पर आज तक मुकदमा तक दर्ज नहीं हो सका। ऐसे में अंकिता को न्याय कैसे मिल सकता है।

श्रद्धांजलि सभा में कांग्रेस के नगर अध्यक्ष तारा चंद्र जोशी, महिला जिलाध्यक्ष राधा बिष्ट, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष संजू सिंह, सेवादल अध्यक्ष दिनेश नेगी, दीपक कुमार, छात्रसंघ अध्यक्ष पंकज कार्की, मनोज सनवाल, देवेंद्र बिष्ट, रोहित रौतेला, ओबीसी जिलाध्यक्ष गौरव वर्मा, विक्रम बिष्ट, दिनेश पिल्खवाल, मनोज बिष्ट, धीरज गैलाकोटी, दर्शन लाल, बाल विक्रम सिंह रावत, नितिन रावत, प्रदीप प्रसाद, रुचि कुटोला, दीपेश कांडपाल, आशुतोष कनवाल, परितोष जोशी, निर्मल रावत, गीता मेहरा, तारा तिवारी, किरण आर्या, संगम पांडे, नारायण दत्त पांडे, हरीश लाल, महेश आर्या, विमल कुमार, मयंक ओली, हर्षित दुर्गापाल, सुधांशु मेहता, अमन कनवाल, अभिषेक कनवाल, अमित बिष्ट, सूरज वाणी, ललित सतवाल, मोहन देवली, उमेश गुर्रानी, सोनू कर्मियाल, संगम पांडे आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।