बागेश्वर: कैंपस गेट पर जड़ा ताला, हंगामा पर पहुंची पुलिस

✒️ बगैर कक्षा संचालन के परीक्षा कराने से झल्लाए छात्र ✒️ आश्वासन के बाद ही शांत हुआ मामला सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: बगैर कक्षाएं संचालित हुए…

कैंपस गेट पर जड़ा ताला, हंगामा पर पहुंची पुलिस

✒️ बगैर कक्षा संचालन के परीक्षा कराने से झल्लाए छात्र
✒️ आश्वासन के बाद ही शांत हुआ मामला

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: बगैर कक्षाएं संचालित हुए परीक्षा कराने पर छात्र नेताओं ने कड़ी आपत्ति जताई है। नाराज छात्रों ने सोमवार को कैंपस गेट पर ताला लगा दिया। नारेबाजी के साथ धरने पर बैठे गए। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नही होंगी, तब तक हम परीक्षा का पूर्ण बहिष्कार करेंगे। हंगामा बढ़ता देख पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। बाद में लिखित आश्वासन के बाद छात्र शांत हुए और गेट खोल दिया।

छात्रसंघ अध्यक्ष राहुल कुमार के नेतृत्व में छात्र सोमवार को कैंपस गेट पर पहुंचे। उन्हें कैंपस के मेन गेट पर ताले लगा दिए। तब तक कॉलेज में स्टाफ भी नहीं पहुंचा था। सभी शिक्षक व कर्मचारी गेट के बाहर ही रह गए। छात्रों का कहना था कि कैंपस में लंबे समय से निदेशक अनुपस्थित चल रहीं है। इससे प्रशासनिक व्यवस्था चरमरा गई है। पूर्व में जारी परीक्षाफलों में आई त्रृटियों को आज तक दूर नहीं किया गया है। कक्षाएं संचालित किए बगैर की परीक्षाएं कराई जा रही है। जो छात्रों के हितों के साथ खिलवाड़ है। इस समस्या को वह कई बार उठा चुके हैं, लेकिन उनके मांगों की अनदेखी की जा रही है। सोमवार से होने वाली परीक्षाओं के विरोध में प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए। छात्रों को बनाने के लिए प्रभारी निदेशक जीएस गड़िया व अन्य शिक्षकगण पहुंचे, लेकिन छात्र नहीं माने।

हंगामा बढ़ता देख कोतवााल कैलाश नेगी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने छात्रों को काफी देर तक समझाया, लेकिन वह नहीं माने। बाद में प्रभारी निदेशक ने छात्रों को लिखित आश्वासन दिया। इसके बाद छात्र माने और एक बजे से परीक्षा भी शुरू हुई। इस मौके पर दिव्यांशु पिंडारी, गणेश कुमार, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष कमलेश गड़िया, प्रकाश सिंह बाछमी, नमीश रावत आदि मौजूद रहे।