बागेश्वर की बेटी बनी वायु सेना में फ्लाइंग अफसर, ममता मेहता पर पूरे गांव को नाज

👉 वायु सेना में फ्लाइंग अफसर बनी ममता मेहता सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर | कांडा-कमस्यार घाटी की बेटी वायु सेना में फ्लाइंग अफसर बनी है। जिससे…

बागेश्वर की बेटी बनी वायु सेना में फ्लाइंग अफसर, ममता मेहता पर पूरे गांव को नाज

👉 वायु सेना में फ्लाइंग अफसर बनी ममता मेहता

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर | कांडा-कमस्यार घाटी की बेटी वायु सेना में फ्लाइंग अफसर बनी है। जिससे क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गई है। उनके स्वजन को बधाइयां देने वालों का तांता लगा है। बेटी पर ग्रामीणों को नाज है। उसने गांव, जिला और राज्य को गौरवान्वित किया है।

डोबरगाड़ा, रावतसेरा निवासी ममता मेहता (Flying Officer Mamta Mehta) की कड़ी मेहनत ने उन्हें मंजिल तक पहुंचाया है। डेढ़ वर्ष तक बंगलूरू एएफटीसी में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद वह भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) में शामिल हो गईं हैं। फ्लाइंग आफिसर बनने पर गांव में खुशी की लहर है।

ममता मेहता ने कक्षा 6 से 12 तक की पढ़ाई जवाहर नवोदय विद्यालय सिमार से की। गोविंद बल्लभ इंजीनियरिंग कॉलेज घुड़दौड़ी, पौड़ी गढ़वाल से कंप्यूटर साइंस से बीटेक की डिग्री हासिल की। एक वर्ष तक निजी कंपनी में सेवा दी। वहीं से वायु सेना की तैयारी भी पूरी की। उनकी मेहनत रंग लाई।

उनकी माता राजकीय इंटर कॉलेज कांडा में कार्यरत है। पिता नंदन सिंह मेहता सेना से सूबेदार पद से सेवानिवृत्त हैं। मामा हितेंद्र सिंह पिलख्वाल भारतीय थल सेना में ब्रिगेडियर हैं। वह जम्मू कश्मीर में नियुक्त हैं। ममता ने सफलता का श्रेय अपनेा माता-पिता, गुरुजन, मामा और नानी को दिया है। जबकि उनकी छोटी बहन जानवी उनसे प्रभावित है। वह जवाहर नवोदय विद्यालय सिमार में पढ़ रही है।