अल्मोड़ा: नई भर्ती में डीएलएड प्रशिक्षितों को वरीयता देने की गुहार, संघ ने सीएम को भेजा ज्ञापन

अल्मोड़ा। उत्तराखंड डायट डीएलएड संघ 2017-19 बैच ने प्राथमिक शिक्षकों के बैकलाग के पदों की भर्ती में डीएलएड प्रशिक्षितों को वरीयता देते हुए नियुक्ति दी…


अल्मोड़ा। उत्तराखंड डायट डीएलएड संघ 2017-19 बैच ने प्राथमिक शिक्षकों के बैकलाग के पदों की भर्ती में डीएलएड प्रशिक्षितों को वरीयता देते हुए नियुक्ति दी जाए। संघ ने जिलाधिकारी के माध्यम से इस मांग का ज्ञापन मुख्यमंत्री को भेजहा है। इससे पूर्व उन्होंने बैठक में रिक्त पदों पर प्राथमिकता से नियुक्ति देने की पुरजोर मांग की है।
मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन में प्राथमिक शिक्षक भर्ती में राजकीय डायट से डीएलएड प्रशिक्षितों को प्रथम वरीयता देते हुए शीघ्र नियुक्ति करने की मांग की। इससे पूर्व संघ की एक बैठक में प्रदेश अध्यक्ष पवन मुस्यूनी ने कहा कि विगत 3 वर्षों से राज्य में प्राथमिक शिक्षक भर्ती नहीं हुई है। पहले से रिक्त पड़े पदों समेत विभागीय पदोन्नति व सेवानिवृत्ति के कारण 5000 से अधिक पद रिक्त हैं। उन्होंने कहा है कि वर्तमान में कोविड-19 के चलते आर्थिक तंगी से बहुत से अभिभावकों के समक्ष आर्थिक संकट आया है। इस कारण अपने बच्चों को मंहगे प्राइवेट स्कूलों की शिक्षा देने में असमर्थ हो गए हैं और ऐसे में अधिकांश अभिभावकों की उम्मीदें सरकारी विद्यालयों पर जगी हैं। संघ के प्रदेश सह सचिव केवल प्रसाद का कहना है कि संघ पूर्व से ही नियुक्ति की मांग को लगातार शासन के समक्ष रख रहा है। उन्होंने कहा है कि प्राथमिक शिक्षकों के बैकलाग के पदों पर शीघ्र होने वाली भर्ती में न्यूनतम 2000 सामान्य पद भी जोड़े जाने चाहिए और आवश्यक योग्यताधारक डायट डीएलएड को प्रथम वरीयता दी जाए। साथ ही नई नियमावली के संशोधनों से उन्हें मुक्त करते हुए शीघ्र भर्ती प्रक्रिया शुरू कर नियुक्ति प्रदान करने की मांग की है। इस मौके पर संघ के प्रदेश अध्यक्ष पवन मुस्यूनी, प्रदेश सह सचिव केवल प्रसाद, कोषाध्यक्ष प्रियंका वर्मा, आरती लटवाल, सौरभ कांडपाल, हेम चन्द्र जोशी, संजय मेहता, सौरभ जोशी, कविता गैड़ा, दिव्या तिवारी, ज्योति रावत, महेंद्र रावत, गिरीश पांडे इत्यादि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *