जिन महिलाओं के लिए ‘Driving’ सपना, उनके हाथ ‘Steering’

पुलिस परिवार की महिलाओं के लिए UPWWA की नई पहल लाई रंग सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा जिन महिलाओं के लिए चौपहिया वाहन चलाना सपना बना था,…

पुलिस परिवार की महिलाओं के लिए UPWWA की नई पहल लाई रंग

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

जिन महिलाओं के लिए चौपहिया वाहन चलाना सपना बना था, अब उनके हाथों में गाड़ी की स्टेयरिंग है। जी हां, अल्मोड़ा में Uttarakhand Police Wives Welfare Association (UPWWA) के बेहतर प्रयास ये संभव हो रहा है। यह नारी सशक्तीकरण की दिशा में भी प्रेरक प्रयास है। कई महिलाएं इनदिनों पुलिस लाइन अल्मोड़ा में बेहद उत्साहित होकर वाहन चलाना सीख रही हैं।

दरअसल, उत्तराखंड पुलिस वाइब्स वेलफेयर एसोसिएशन (UPWWA) की अध्यक्ष डॉ. अलकनन्दा अशोक के मार्गदर्शन में उपवा की जिलाध्यक्ष रितु राय की पहल पर पुलिस परिवार की महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने के लिए समय—समय पर नये—नये प्रशिक्षण दिए जा रहे हैं। इसी क्रम में इस दफा कुछ नया प्रशिक्षण ​शुरू किया है। पुलिस परिवार की महिलाओं के लिए यहां पुलिस लाइन में चौपहिया वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह प्रशिक्षण पुलिस परिवार की उन महिलाओं व युवतियों के लिए शुरू किया गया है, जिनके लिए अब तक चौपहिया वाहन चलाना एक सपना बना है, ताकि खुद वाहन चला सकें और इस प्रशिक्षण का लाभ उठाते हुए उनके जीवन में सकारात्मक प्रभाव पड़े।

बकायदा इस प्रशिक्षण के लिए वाहन के साथ ही पुलिस परिवार के ही अनुभवी चालक मोहन तिवारी को प्रशिक्षक नियुक्त किया गया है। उत्साहित होकर फिलहाल पुलिस परिवार की 28 महिलाओं एवं युवतियों ने वाहन चलाने का प्रशिक्षण लेने के लिए खुशी—खुशी कदम आगे बढ़ाया है, जो अलग-अलग चरणों में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। प्रशिक्षण ले रही महिलाएं काफी उत्साहित हैं। UPWWA का यह प्रयास नारी सशक्तीकरण पर भी बल देता है। प्रशिक्षण ले रही महिलाएं UPWWA का इस बात के लिए आभार जता रही हैं कि उसके प्रयास से उनका ड्राइविंग का सपना साकार होने जा रहा है।