अल्मोड़ा: कार्यों में शि​थिलता व लापरवाही पर होगी सख्त कार्यवाही

👉 जिलाधिकारी विनीत तोमर ने अधिकारियों को दी हिदायत सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिलाधिकारी विनीत तोमर ने आज विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए ​कि वे…

कार्यों में शि​थिलता व लापरवाही पर होगी सख्त कार्यवाही

👉 जिलाधिकारी विनीत तोमर ने अधिकारियों को दी हिदायत

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिलाधिकारी विनीत तोमर ने आज विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए ​कि वे सीएम की घोषणाओं समेत अन्य सभी कार्यों में यथासमय अपेक्षित प्रगति लाई जाए। उन्होंने हिदायत दी कि कार्यों में शिथिलता बर्दाश्त नहीं होगी और लापरवाही बरतने वाले अधिकारी व कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। यह निर्देश जिलाधिकारी विनीत तोमर ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री घोषणाओं, विभागों की जिला योजना, राज्य योजना तथा बाह्य सहायतित योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए दिए।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री घोषणाओं से संबंधित कार्यों में अपेक्षित प्रगति लाई जाए और अगर किसी घोषणा में कार्य किया जाना संभव नहीं हो, तो संबंधित जनप्रतिनिधियों से समन्वय स्थापित कर उसमें परिवर्तन करवाया जाए और यदि कार्य की संभावना ही नहीं हो, तो उसे विलोपित करने की कार्यवाही की जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि विभागीय अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में किए जाने वाले जिला योजना या अन्य योजनाओं के कार्यों के टेंडर आदि की प्रक्रियाएं लंबित नहीं रहने पाएं।उन्होंने निर्देश दिए कि विभागों से कहा कि पूर्ण हो चुके कार्यों के भुगतान संबंधी प्रक्रिया जल्द पूरी कर ली जाए। उन्होंने अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि कार्यों में शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी और यदि लापरवाही बरतने पर संबंधितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके द्वारा किए गए कार्यों की सही एवं अद्यतन रिपोर्टिंग भी अर्थ एवं संख्या कार्यालय में अनिवार्य रूप से की जाए और यदि विभागीय कार्यों में कहीं कोई विवाद हो, तो ऐसे सभी प्रकरणों का निस्तारण संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित करते हुए किया जाए। उन्होंने बैठक में निर्देश दिए कि जो कार्य नए सिरे से किए जाने हैं, उनमें टेंडर आदि की प्रक्रिया आगामी 15 दिनों के भीतर पूर्ण कर ली जाए। बैठक में जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी रेनू भंडारी ने बताया कि जिला योजना के तहत विभागों को अवमुक्त धनराशि का 52 प्रतिशत बजट खर्च किया जा चुका है। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा कोंडे, प्रभागीय वनाधिकारी ध्रुव सिंह मर्तोलिया, परियोजना निदेशक डीआरडीए पुष्पेंद्र सिंह, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी रेनू भंडारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी आराधना त्रिपाठी समेत अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।