हल्द्वानी : कभी भी ढह सकता है चकलुवा के पास बना पुल, दोनों पिलर हुए क्षतिग्रस्त

हल्द्वानी | उत्तराखंड में चार दिन से लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले, गधेरे उफान पर हैं। वहीं, कई पुलों पर भी खतरा पैदा हो…

हल्द्वानी : कभी भी ढह सकता है चकलुवा के पास बना पुल, दोनों पिलर हुए क्षतिग्रस्त

हल्द्वानी | उत्तराखंड में चार दिन से लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले, गधेरे उफान पर हैं। वहीं, कई पुलों पर भी खतरा पैदा हो गया है। रविवार को हल्द्वानी-देहरादून स्टेट हाईवे पर चकलुवा के पास बने पुल को भी खतरा पैदा हो गया है। पानी के तेज बहाव ने पुल के दोनों पिलर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। राजमार्ग की आधी सड़क भारी बारिश में बह गई है। ऐसे में यह पुल कभी भी ढह सकता है। राजमार्ग पर बड़े वाहनों के चलने पर प्रतिबंध लगाया गया हालांकि छोटे वाहनों द्वारा यातायात सामान्य रूप से सुचारु किया गया है।

हल्द्वानी-रामनगर हाईवे पर पुलिया टूटी, पुलिस ने जारी किया नया रूट प्लान

उपजिलाधिकारी रेखा कोहली ने मौके पर पहुंचकर यातायात को सुचारु किया और आधी बह चुकी सड़क पर यात्रियों को ध्यान से चलने का आग्रह किया। बहरहाल ऐसे मौसम में लगातार हो रही बारिश के चलते कभी भी बड़ा हादसा होने की संभावना है। उपजिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में प्रभारी तहसीलदार कालाढूंगी युगल किशोर पांडेय समेत समस्त राजस्व उपनिरीक्षक अपने अपने क्षेत्रों में तैनात हैं।

Chakalwa PUL HALDWANI 1

शनिवार को हुई बारिश से भी कई जगह पुल टूटे

रामनगर-भतरौंजखान मार्ग पर मोहान स्थित पन्याली नाले में आए तेज बहाव के कारण इस पर बना पुल टूट गया। इससे भतरौंजखान, भिकियासैंण, रानीखेत के लिए आवाजाही बंद हो गई है। राहगीरों को चिमटाखाल, हरड़ा मार्ग से भेजा रहा है।

वहीं, पिथौरागढ़ जिले में दारमा घाटी के माइग्रेशन ग्राम बोन को जोड़ने के लिए च्युति गधेरे में बना पुल भी बारिश की भेंट चढ़ गया है। इसके चलते गांव के 30 परिवारों का संपर्क मुख्य सड़क से कट गया है। तीजम और वतन तोक को जोड़ने वाला लकड़ी का पैदल पुल बह गया है। इससे 18 परिवारों का संपर्क कट गया है। उधर, चीन सीमा को जोड़ने वाला कैलाश मार्ग पर स्थित बैली ब्रिज भी खतरे की जद में है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *