बागेश्वर: खेत से घास लेकर लौट रही युवती पर गुलदार का हमला

👉 मां—बेटी ने मिलकर मचाया शोर, तब भागा गुलदार सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: बागेश्वर वन रेंज के जोशीगांव नाघर गांव में रविवार की शाम खेत से…

खेत से घास लेकर लौट रही युवती पर गुलदार का हमला

👉 मां—बेटी ने मिलकर मचाया शोर, तब भागा गुलदार

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर: बागेश्वर वन रेंज के जोशीगांव नाघर गांव में रविवार की शाम खेत से घास लेकर आ रही एक युवती पर गुलदार ने हमला कर दिया। उसके दाएं पांव को जख्मी कर दिया। गनीमत रही की पीछे से उसकी मां भी आ रही थी। मां व बेटी के हो हल्ला करने के बाद गुलदार जंगल की ओर भाग गया। युवती को 108 के माध्मय से जिला अस्पताल भर्ती किया गया। उपचार को बाद दूसरे दिन उसे घर ले आए हैं। उनकी हालत में सुधार है।

नाघर निवासी आनंद सिंह भंडारी ने बताया कि इन दिनों धान कटाई, मढ़ाई का कार्य चल रहा है। इस कारण देर शाम तक लोग आंगन में काम संपन्न करने में लगे रहते हैं। रविवार की शाम उनकी 21 साल की बेटी मनीषा अपनी मां के साथ खेत से घास ला रही थी। करीब साढ़े छह बजे जैसे ही दोनों आंगन में पहुंचे पहले से घात लगाए गुलदार ने मनीषा पर हमला कर दिया। उसके पांव को जख्मी कर दिया, जबकि उसने पांव में जूते भी पहने थे, यदि जूते नहीं पहने होते तो गुलदार उसे घसीटकर ले जाता। इसके बाद वह बेटी को जिला अस्पताल ले गए और घटना की सूचना वन विभाग को दी। सूचना के बाद वन विभाग की टीम रात में ही गांव में पहुंची और अस्पताल जाकर घायल का हाल जाना। घायल का उपचार भी कराया। उपचार के बाद उसे छुट्टी दे दी है।

गांव में गुलदार के हमले के बाद से लोग दहशत में हैं। लोगों ने वन विभाग से गांव में गश्त बढ़ाने तथा पिंजड़ा लगाकर गुलदार को पकड़ने की मांग की है। इधर क्षेत्रीय वनाधिकारी एसएस करायत ने बताया कि घायल मनीषा का उपचार कराया गया है। उसकी हालत ठीक है। गांव में वन विभाग की टीम रात को भी गश्त करेगी। उन्होंने कहा कि इन दिनों गुलदार आबादी क्षेत्र में आसानी से पहुंच जाता है। घास तथा झाड़ियां होने के कारण वह वहां छिपा रहता है। उन्होंने लोगों से घर के आसपास उगी घास को भी काटने की अपील की है।