अल्मोड़ा : घर-घर जाकर पूर्ण करना होगा टीबी खोज अभियान

टीबी उन्मूलन पर ​वृहद कार्यक्रम सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा। विश्व क्षय रोग दिवस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आरसी पंत एवं जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ…


टीबी उन्मूलन पर ​वृहद कार्यक्रम

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा। विश्व क्षय रोग दिवस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आरसी पंत एवं जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ प्रॉशु डेनियल के आदेशानुसार विश्व क्षय रोग दिवस 24 मार्च के क्रम में उप सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र/टीबी यूनिट धौलादेवी के सभागार में टीबी उन्मूलन के लिए एक वृहद कार्यक्रम आयोजित किया गया।

जिसमें उप जिला चिकित्सालय धौलादेवी के अंतर्गत कार्यरत समस्त चिकित्सा अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ टीबी यूनिट में पंजिकृत टीबी के रोगियों को भी सम्मलित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षयता प्रभारी चिकित्सा अधिकारी धौलादेवी डॉ० बीबी जोशी द्वारा की गयी। उनके द्वारा टीबी उन्मूलन हेतु जन भागीदारी के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गयी।

कार्यक्रम में वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारु डॉ० बीबी जोशी द्वार बताया गया कि वर्ष 2025 तक भारत को टीबी मुक्त एवं वर्ष 2024 तक उत्तराखंड को टीबी मुक्त बनाने हेतु सभी कर्मचारियों द्वारा दृढ़ संकल्प लिया जाये। जिसके अंतर्गत उपचार प्राप्त कर रहे टीबी मरीजों को निक्षय मित्र बनकर गोद लिया जाये तथा उनके उपचार की देख-रेख एवं पोषण भोजन उपलब्ध कराने के लिए स्वैच्छिक जिम्मेदारी ली जाये।

डा चंद्रशेखर बोरा द्वारा बताया गया कि लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु हमें पुनः सक्रिय टीबी खोज अभियान (ACF) घर-घर जाकर पूर्ण करना होगा जिससे हमारे क्षेत्र में कोई भी टीबी का संक्रमण भविष्य में न रहे। कहा कि टीबी का मरीज अपनी बीमारी को छिपाता है। जिस हेतु हमें प्रत्येक घर में जाकर टीबी के मरीजों को खोजना होगा एवं इलाज हेतु प्ररित करना होगा।

कार्यक्रम में इस वर्ष की थीम “YES WE CAN END T.B.” को सार्थक करने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम में टीबी के पंजिकृत रोगियों द्वारा अपने-अपने विचार रखें गये। कार्यक्रम में उपस्थित अन्य सभी कर्मचारीयों द्वारा भारत को टीबी मुक्त बनाने हेतु अपने विचार एवं सुझाव प्रदान किये गये।

कार्यक्रम में डा० बीवी जोशी, डॉ चंद्रशेखर बोरा, वरिष्ठ टीबी सुबरवाइजर धीरज गुणवंत, बीपीएम साजिद अली, समस्त हॉस्पिटल कर्मचारी शामिल रहे। चिकित्सालय धौलादेवी के अंतर्गत कार्यरत समस्त कर्मचारी, नर्सिंग अधिकारी, आशा एवं टीबी के मरीज उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *