रानीखेत निवासी व पंतनगर विवि की छात्रा रितिका पांडे फ्रांस में चुनी गई वॉलेंटियर

पंतनगर विवि अंतर्गत कृषि महाविद्यालय बीटेक फूड टेक्नोलॉजी स्नातक फाइनल वर्ष की छात्रा है रितिका पांडे अल्मोड़ा | रानीखेत निवासी व जीबी पंत कृषि एवं…

रानीखेत निवासी व पंतनगर विवि की छात्रा रितिका पांडे फ्रांस में चुनी गई वॉलेंटियर

पंतनगर विवि अंतर्गत कृषि महाविद्यालय बीटेक फूड टेक्नोलॉजी स्नातक फाइनल वर्ष की छात्रा है रितिका पांडे

अल्मोड़ा | रानीखेत निवासी व जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय अंतर्गत कृषि महाविद्यालय के बी-टेक फूड टेक्नोलॉजी स्नातक फाइनल वर्ष की छात्रा रितिका पांडे को फ्रांस सरकार ने पूर्ण वित्तीय सहायता के साथ 7 माह के लिए फ्रांस वॉलेंटियर के रूप में चुना है। रितिका ऑक के गेर्स स्थित प्रशिक्षण संस्थान में सितंबर 2024 से मार्च 2025 तक आयोजित होने वाले कार्यक्रम में बतौर वोलिंटियर प्रतिभाग करेंगी।

कार्यक्रम मिशन का मुख्य उद्देश्य भारत-फ्रांस दोनों देशों के बीच अंतर्राष्ट्रीय गतिशीलता को बढ़ावा देने, खाद्य नवाचार व अंतरसांस्कृतिक गतिविधियों के साथ ही भाषाई दृष्टिकोण (अंग्रेजी, हिंदी, फ्रेंच) के माध्यम से व्यक्तिगत ज्ञान का आदान-प्रदान कराना है।

जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के अन्तर्राष्ट्रीय मामलों के निदेशक डा. एचजे शिव प्रसाद ने उक्त संबंध में जानकारी देते बताया कि ऑक के गेर्स में स्थित स्थानीय सार्वजनिक कृषि शिक्षा और प्रशिक्षण संस्थान (EPLEFPA) से जुलाई 2023 में हस्ताक्षरित एमओयू क्षैतिज भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी के तहत भारत और फ्रांस में फ्रांस वॉलेंटियर्स की सहायता प्राप्त हुई है। जिसमें ऑक में स्थित EPLEFPA एवं DEFIAA कार्यक्रम में शामिल 12 संस्थानों के संघ का हिस्सा है, जो भारत में स्थित पंतनगर विश्वविद्यालय के साथ काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय के बीटेक फूड टेक्नोलॉजी स्नातक फाइनल वर्ष की छात्रा रितिका पांडे को फ्रांस सरकार ने पूर्ण वित्तीय सहायता के साथ 7 माह के लिए फ्रांस वॉलेंटियर के रूप में चुना है। रितिका (Ritika Pandey) इस मिशन के तहत चुनी जाने वाली पंतनगर विश्वविद्यालय की प्रथम छात्रा है, जो उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्र से है।

परिजनों में खुशी का माहौल

रितिका पांडे (Ritika Pandey) की इस उपलब्धि पर विवि कुलपति डा. एमएस चौहान, अन्तर्राष्ट्रीय मामलों के निदेशक डा. एचजे शिव प्रसाद, खाद्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की सलाहकार डॉ. सिमरन अरोड़ा सहित अन्य लोगों ने बधाई देते हुए उसके उज्जवल भविष्य की कामना की है। उधर रितिका की इस उपलब्धि पर परिजनों में खुशी का माहौल है। उसकी इस सफलता पर परिजनों सहित गणमान्य नागरिकों एवं अन्य लोगों ने बधाई देते हुए उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना ‌‌की है। रितिका के पिता गिरीश चंद्र पांडे रानीखेत में पत्रकार हैं और व्यवसाय करते हैं तथा माता नीरु पांडे वर्तमान में जोशीमठ में बाल विकास परियोजना के पद पर कार्यरत हैं।

रितिका ने हल्द्वानी में ली शिक्षा

मेघावी रितिका की प्रारंभिक शिक्षा कक्षा दो बीरशिवा स्कूल रानीखेत व उससे आगे बारहवीं तक की सरस्वती एकेडमी स्कूल हल्द्वानी से हुई है। शिक्षा के दौरान उसने अनेक प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर प्रमाण पत्र हासिल किए हैं। साथ ही उसे कविता लेखन और कत्थक नृत्य का भी शौक है। वह अपनी उपलब्धि का श्रेय माता-पिता व गुरुजनों के साथ ही अपनी दीदी रागिनी को देती है।

जीबी पन्त विश्वविद्यालय की और से जुलाई 2023 में आस्ट्रेलिया की वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी में एक माह के शैक्षिक भ्रमण अंतर्गत अनुसंधान कार्य हेतु चयनित 19 सदस्यीय दल में शामिल रितिका ने दल सदस्यों संग वहां मौसमीय और खाद्य सुरक्षा विषय में अनुसंधान करने के साथ ही उच्च शिक्षा हेतु भी अनुसंधान कार्य किया है।

22 साल तक ग्लेशियर में दबे रहे पर्वतारोही विलियम स्टैम्पफ्ल, इस हाल में मिला शव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *