Thursday , October 18 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Champawat / चंपावत : अवर सहायक के मुंह से आ रही थी शराब की गंध वेतन रोकने के आदेश

चंपावत : अवर सहायक के मुंह से आ रही थी शराब की गंध वेतन रोकने के आदेश

चम्पावत। जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय के अवर सहायक के मुंह से मद्यपान की गंध आने पर मेडीकल परीक्षण कराने तथा ग्रामीण निर्माण विभाग के कार्मिक चन्दन सिंह बिष्ट के आकस्मिक अवकाश या अन्य अवकाश पर जाने के सम्बन्ध में सही जानकारी न होने पर आरडब्ल्यूडी के प्रधान सहायक का वेतन रोकने के निर्देश जिलाधिकारी एसएन पाण्डे ने दिये। जिलाधिकारी ने यह निर्देश शनिवार को विकास भवन में अवस्थित 14 विभागों के औचक निरीक्षण के दौरान दिये। औचक निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने डीपीआरओ कार्यालय में कार्यरत अवर सहायक दिनेश चन्द्र के मुंह से मद्यपान की गंध आने पर चिकित्सकीय परीक्षण कराने तथा आरडब्ल्यूडी के कार्मिक चन्दन बिष्ट के अवकाश की जानकारी न होने पर प्रधान सहायक का वेतन रोकने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों को उपस्थिति पंजिका का निरीक्षक करने, मिटिंग/विजिटर पंजिका में आने व जाने का समय दर्शाने के साथ भ्रमण प्रयोजन को अंकित करने तथा बैठक या टूर में जाने पर पंजिका में पूर्ण विवरण दर्शाने के निर्देश दिये। उन्होंने कार्यालय एवं उसके आसपास बेहतर साफ-सफाई बनाये रखने तथा विभागीय उत्तरदायित्व निर्धारण करने के निर्देश जिला विकास अधिकारी को दिये। उन्होंने अधिसूचित कार्यालयों में ‘सूचना का अधिकार’ के साथ ‘‘सेवा का अधिकार’’ का बोर्ड स्थापित करने और उसमें उत्तरदायी का नाम व पदनाम अंकित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।
जिलाधिकारी ने विकास भवन के विभिन्न कार्यालयों के पटलों के निरीक्षण के दौरान सभी अधिकारियों सहित कार्मिकों को नेम प्लेट लगाने के निर्देश दिये जिससे जनसमान्य को अपने कार्य हेतु इधर-उधर चक्कर न लगाने पड़ें। उन्होंने रजिस्टर ऑफ रजिस्टर तथा रजिस्टर ऑफ फाइल बनाने के निर्देश दिये जिससे सूचना के अधिकारी तथा अन्य कार्यो हेतु फाइलों को ढूढने में समय की बर्बादी न हो। जिलाधिकारी ने नई पत्रावली खोलने से पूर्व, ‘‘इस विषय पर पूर्व में कोई पत्रावली नहीं है’’ अंकित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने अधिकारियों एवं कर्मचारियों हेतु पृथक-पृथक भ्रमण पंजिका कार्यालय में रखने तथा विभिन्न कार्यो हेतु जाने पर उसमें जाने, आने तथा प्रयोजन दर्शाने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों सहित कर्मचारियों को चेताया कि निर्धारित समय पर कार्यालय पर पहुॅचें और संवेदनशील होकर जन सामान्य के कार्या को गति प्रदान करना सुनिश्चित करें। उन्होंने पत्रावलियों को व्यवस्थित रखने तथा सभी पत्रावलियों में पेज नम्बर अंकित करने के साथ बायोमैट्रिक उपस्थिति मशीन को सही दशा में रखने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने पूर्व में जिलाधिकारी कार्यालय में हुई अग्नि दुघर्टना का संज्ञान लेते हुए सभी कार्यालयों में अनिवार्य रूप से इलैक्टिक सेफ्टी हेतु जरूरी उपाय करने, आवश्यक उपकरण स्थापित करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने विकास भवन प्रांगण, सीड़ियों में पान की पीक तथा बाथरूमों में गंदगी पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए आगामी औचक निरीक्षण से पूर्व इस तरह के कृत्यों पर अंकुश लगाने के निर्देश दिये। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने उद्यान, कृषि, समाज कल्याण, पशुपालन, अर्थ एवं संख्या, सहकारिता, पंचस्थानि, ग्रामीण निर्माण विभाग, जिला विकास कार्यालय, बचत कार्यालय, पंचायतराज कार्यालय, डीआरडीए कार्यालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान परियोजना निदेशक डीआरडीए एचजी भट्ट, जिला विकास अधिकारी आरसी तिवारी आदि उपस्थित थे।

About admin

Check Also

चम्पावत में भी लहराया भगवा, एबीवीपी के पारस ने दर्ज की जीत

Post Views: 97 चम्पावत। चम्पावत में पारस महर के सिर अध्यक्ष का ताज सजा है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *