Thursday , October 18 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Dehradun / विडंबना: दो घंटे तक एयरपोर्ट पर ही रखा रह गया रूद्रप्रयाग के शहीद मानवेंद्र सिंह रावत का शव

विडंबना: दो घंटे तक एयरपोर्ट पर ही रखा रह गया रूद्रप्रयाग के शहीद मानवेंद्र सिंह रावत का शव

देहरादून/डोईवाला। जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा में भारत माता के लिए अपना बलिदान देने वाले शहीद मानवेंद्र सिंह रावत के पार्थिव शरीर को ले जाने के लिए मौसम में आई खराबी के चलते हेलीकॉप्टर की व्यवस्था नहीं हो पाई। दो घंटे तक हेलिकाॅप्टर के को इंतजार में शव एयरपोर्ट पर ही रखा रह गया। बाद में शहीद के पार्थिव शरीर को देहरादून एयरपोर्ट से सड़क मार्ग द्वारा शहीद के पैतृक गांव रूद्रप्रयाग के लिए ले जाया गया। उल्लेखनीय है कि राइफलमैन मानवेंद्र सिंह रावत 35 पुत्र नरेंद्र सिंह रावत मूल निवासी कबिल्ठा गांव, ऊखीमठ ब्लॉक रूद्रप्रयाग, छह गढवाल राइफल में कार्यरत थे और वर्तमान में उनकी तैनाती 14 राष्ट्रीय राइफल में थी। जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा में बुधवार रात साढे दस बजे दुश्मनों से लोहा लेते हुए वो घायल हो गए थे। उन्होंने उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया था। शहीद मानवेंद्र का पार्थिव शरीर सेना के विमान द्वारा शुक्रवार शाम 3.25 मिनट पर श्रीनगर से देहरादून लाया गया। सेना का विमान पार्थिव शरीर एयरपोर्ट पहुंचाने के बाद वापस रवाना हो गया। उसके बाद जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर सुबह से खड़े सेना के जवान शहीद का पार्थिव शरीर ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इंतजार करते रहे। पहले बताया गया कि गौचर से सेना का हेलीकॉप्टर शहीद का पार्थिव शरीर लेने के लिए आ रहा है। लेकिन काफी इंतजार के बाद गौचर से कोई हेलीकॉप्टर जौलीग्रांट नहीं पहुंचा। उसके बाद बरेली से हेलीकॉप्टर आने की बात कही गई। घंटों इंतजार के बाद जब कोई भी हेलीकॉप्टर शहीद का पार्थिव शरीर लेने नहीं पहुंचा तो 24 फील्ड रेजिमेंट (आर्टलरी) के जवानों ने शहीद को श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। जिसके बाद शुक्रवार शाम 5रू27 मिनट के लगभग शहीद मानवेंद्र के पार्थिव शरीर को एयरपोर्ट से सेना के ट्रक द्वारा सड़क मार्ग से श्रीनगर ले जाया गया। श्रीनगर में रात रूकने के बाद शनिवार को सुबह शहीद का पार्थिव शरीर उनके निवास स्थान ले जाया जाएगा। मौके पर कर्नल शैलेंद्र उत्तम, सूबेदार जर्नादन सेमवाल, सूबेदार परवीर सिंह पंवार, सीएम पीआरओ संदीप सिंह भगवान सिंह कार्की, मुकेश आनंद, संदीप जायसवाल, चैकी प्रभारी मुकेश डिमरी आदि उपस्थित रहे। इधर मौके पर मौजूद अधिकारियों का कहना था कि मौसम खराब होने के कारण शहीद का पार्थिव शरीर लेने के लिए हेलीकॉप्टर जौलीग्रांट नहीं पहुंच सका।

About admin

Check Also

ब्रेकिंग न्यूज : नाबालिग से छेड़छाड़ करने वाला धरा गया

Post Views: 91 लालकुआं। हल्दूचौड़ में नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने वाले शाहजहां पुर निवासी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *