Saturday , November 17 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Almora / सात माह से अधर में लटका है अल्मोड़ा में रोप-वे का निर्माण, पर्यटन विकास को लेकर किए जा रहे दावे खोखले साबित

सात माह से अधर में लटका है अल्मोड़ा में रोप-वे का निर्माण, पर्यटन विकास को लेकर किए जा रहे दावे खोखले साबित

अल्मोड़ा। जनपद में शासन स्तर पर पर्यटन विकास को लेकर की गई घोषणाएं जमीन स्तर पर कार्य रूप में परिणित नही हो पाई हैं। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए दुर्भाग्यवश यहां वर्तमान में कोई भी योजना संचालित नही हो पा रही है। मनोरंजन के केंद्र बड़े पार्कों में पर्याप्त बजट न मिलने से रख-रखाव का कार्य नही हो पा रहा है। वहीं, शहर में बढ़ती वाहनों की संख्या को देखते हुए नए पार्किंग स्थलों का भी अभी निर्माण कार्य पूरा नही हो पाया है। बड़ी योजनाओं की बात करें तो अल्मोड़ा से कसारदेवी तक रोप-वे का निर्माण भी अधर में लटका हुआ है। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी राहुल चौबे ने बताया कि रोप-वे के निर्माण के लिए शासन को जो प्रस्ताव भेजा गया था। उसे फिलहाल स्वीकृत नही मिल पाई है। यह प्रस्ताव उत्तराखंड पर्यटन विकास देहरादून को भेजा गया है। उल्लेखनीय है कि यदि अल्मोड़ा से कसारदेवी तक का रोप-वे का कार्य पूरा हो जाए तो इससे एक ओर आम जनता को सहूलित होगी वही, पर्यटक भी आकर्षित होंगे। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए अल्मोड़ा डैम में नियमित रूप से रीवर राफ्टिंग भी नही हो पा रही है। इधर पार्किंग की समस्या को लेकर बात-चीत में अधिषाशी अधिकारी नगर पालिका श्याम प्रसाद ने बताया कि सिकुड़ा बैड़, थपलिया और लक्ष्मेश्वर में नए पार्किग स्थलों के निर्माण के लिए बीस लाख से अधिक की टोकन मनी जिला प्लान में स्वीकृत हो चुकी है। फिलहाल इन पार्किग स्थलों के निर्माण कार्य पूरा होने में समय लगेगा। अलबत्ता यदि ये तीन पार्किग स्थल बन भी जाती है तो बढ़ती हुई वाहनों की संख्या को देखते हुए कम से कम दर्जन भर नए पार्किंग स्थलों की आवश्यकता है।

About dheeraj kumar

Check Also

बागेश्वर : प्रदेश में सरकार होने का मिलेगा कुंदन को लाभ

बागेश्वर। प्रदेश में भाजपा सरकार होने के कारण कई मतदाता नगर पालिका की सत्ता भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *