Wednesday , December 19 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Almora / न्यायालय के आदेश के बावजूद शुरू नहीं हुई डायलिसिस मशीन, अगर आज दुरूस्त नहीं हुई तो कल अवमानना मुकदमा दायर करेंगे याचिकाकर्ता नवाज खान

न्यायालय के आदेश के बावजूद शुरू नहीं हुई डायलिसिस मशीन, अगर आज दुरूस्त नहीं हुई तो कल अवमानना मुकदमा दायर करेंगे याचिकाकर्ता नवाज खान

याचिकाकर्ता नवाज खान की प्रेस वार्ता
अल्मोड़ा। न्यायालय के स्पष्ट आदेश के बावजूद यहां बेस अस्पताल अल्मोड़ा में खराब पड़ी डायलिसिस मशीन आज तक ठीक नहीं कराई गई है। जिससे नाराज इस मामले में न्यायालय में याचिका दायर करने वाले नवाज खान ने बकायदा प्रेस वार्ता करके चेतावनी दी कि अगार आज अस्पताल में मशीन शुरू नहीं की गई तो कल 20 सितंबर को हाई कोर्ट में अवमानना का मुकदमा दायर कर दिया जायेगा। जिसमें डीएम, सीएमओ, स्वास्थय सचिव व स्वास्थ्य महानिदेशक को पार्टी बनाया जायेगा। नवाज खान ने कहा कि उन्होंने जिलाधिकारी से लेकर राज्य के चिकित्सा प्रशासन व मुख्यमंत्री व अन्य जनप्रतिनिधियों से बेस अस्पताल में खराब पड़ी डायलिसिस मशीन को दुरूस्त करने या बदलने का आग्रह किया था, लेकिन कही कोई सुनवाई नहीं हुई। आंखर में वह न्यायालय की शरण में गये। 21 फरवरी 2018 को न्यायालय ने अल्मोड़ा बेस चिकित्सालय में 7 माह के अंदर डायालिसिस सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिये थे। आज वह समयसीमा पूरी हो चुकी है। इसके बावजूद बेस चिकित्सालय सिर्फ समाचार पत्रों के माध्यम से बयानबाजी ही कर रहा है। अतएव यदि आज शाम तक मशीन चालू नही हुई तो किडनी के मरीजों के हित में कल वह जनहित याचिका दायर कर ​देंगे। जिसमें पक्षकार सचिव चिकित्सा उत्तराखंड शासन, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य व मुख्य चिकित्सा अधिकारी अल्मोड़ा आदि रहेंगे। जिन पर मानहानि का केस दायर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि बेस चिकित्सालय में डायालिसिस मशीन संचालित करना किसी की जनता के प्रति कोई कृपा नहीं है। चिकित्सा सचिव से लेकर मुख्य चिकित्साधिकारी अल्मोड़ा इन कार्यों का वेतन लेते हैं और जनता के ऊपर कोई अहसान नहीं करते। पिछले दिनों डायालिसिस मशीन ना होने के कारण ही शकील अहमद की मौत हो गई थी। सुरेंद्र सिंह राणा जो किडनी के मरीज हैं, उन्हें भी डायालिसिस की सुविधा नही होने से हल्द्वानी जाना पड़ रहा है। जिस कारण रास्ते में उन्हें दो बार दौरे पड़ गये। किडनी के मरीजों की यह जिंदगी और मौत का ​सवाल है और यदि अस्पताल प्रबंधन लापरवाही बरतेगा तो न्यायालय की पुन: शरण में जाया जायेगा।

About dheeraj kumar

Check Also

बाइक की टक्कर में घायल स्कूटी सवार बुजुर्ग ने तोड़ा दम

Post Views: 352 लालकुआं। निकटवर्ती क्षेत्र बिन्दुखत्ता के ढलान चक्की चौराहे पर इंदिरानगर में बाइक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *