Friday , November 16 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Almora / रानीखेत किडनी चोरी प्रकरण: अस्पताल ने रखा पक्ष, कहा बदनाम करने की साजिश
प्रेस वार्ता में डॉ. श्रीवास्वत व अन्य

रानीखेत किडनी चोरी प्रकरण: अस्पताल ने रखा पक्ष, कहा बदनाम करने की साजिश

पत्रकारवार्ता देखने के लिए इस लिंक को क्लिक करें

किडनी निकालने का आरोप पूरी तरह से गलत: डाॅ. श्रीवास्तव

— राजेंद्र सिंह बिष्ट —
रानीखेत। नगर के एक चिकित्सालय में आपरेशन के दौरान पत्नी की किडनी निकाले जाने वाले कुवांली निवासी खीम सिंह के आरोपों को डाॅ. ओपीएल श्रीवास्तवा ने एक सिरे से खारिज करते हुए कहा कि उन पर लगाए गए आरोप पूरी तरह से गलत हैं। यह उन्हें बदनाम करने का प्रयास किया गया है। गुरुवार को एक होटल के सभागार में पत्रकारों को जानकारी देते हुए डाॅ. ओपीएल श्रीवास्तवा ने कहा कि उन्होंने काफी लंबे समय से यहां के लोगों की निःस्वार्थ भाव से सेवा की है। उसके बावजूद उन्हें सोची-समझी साजिश के तहत बदनाम करने का खेल खेला गया। जिससे उन्हें व उनके परिवार को आघात पहुंचा है। उन्होंने पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए कहा कि विगत 18 फरवरी 2018 को कुंवाली निवासी खीम सिंह की पत्नी खष्टी देवी का अपैंडिक्स का आपरेशन किया गया था, लेकिन चीरा लगाने के बाद पता चला कि उसकी दायी किडनी में एक मांस का लुथड़ा चिपका हुआ है। जिसकी जानकारी खीम सिंह को दी गई। उसे यह भी जानकारी दी गई कि किडनी में टयूमर है जो घातक है। जिस पर उसकी सहमति से अपंैडिक्स का आपरेशन के साथ दायी टयूमर वाली किडनी को निकाला गया। आपरेशन के दौरान उसकी पत्नी को तीन ब्लड़ की बोतल किसी तरह इंतजाम कर चढ़ाई गई। आपरेशन सफल होने पर खीम सिंह को उसकी पत्नी की निकाली गई किडनी जांच के लिए सौंप दी गई। उसे यह भी राय दी गई कि स्वस्थ्य होने पर पत्नी को दिल्ली चिकित्सालय में जाकर जांच की जानी आवश्यक है। पत्नी के स्वस्थ होने पर उसने अपनी पत्नी की जांच दिल्ली चिकित्सालय में कराई। डाॅ. श्रीवास्तव ने लखनऊ पैथोलोजी में की गई किडनी की जांच व पत्नी की डिस्चार्ज वाले दस्तावेजों को भी पत्रकारो को सौंपा। उन्होंने भावुक होकर कहा कि लम्बे समय से वह यहां अपनी सेवा देकर लाखों मरीजों को स्वस्थ कर चुके हैं, लेकिन उसके बावजूद इस तरह के आरोप लगाकर उन्हें बदनाम किया जाना एक सोची समझी साजिश है। कहा कि वह सभी तथ्यों के साथ अपनी बातों को हर पटल में रखने के लिए तैयार हैं। पे्रस वार्ता में उनकी पत्नी डाॅ. रेनू श्रीवास्तवा, पुत्र मनीष श्रीवास्तवा सहित अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष एडवोकेट रघुनंदन वैला, कैलाश पांडे, वसीम अहमद, गोविंद बिष्ट सहित नगर के गणमान्य लोग मौजूद थे।

किडनी चोरी का आरोप लगाने वाले व्यक्ति का नहीं उठा फोन
इधर इस मामले में किडनी चोरी का आरोप लगाने वाले व्यक्ति को मीडिया की ओर से दिन भर फोन किये गये, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।​ जिससे यह संगीन आरोप लगाने वाले व्यक्ति का पक्ष आज सामने नहीं आ पाया। 

About admin

Check Also

जानलेवा हमले के आरोपी को गिरफ्तार करके लौट रही राजस्व पुलिस की टीम से भरी मैक्स रामगंगा में गिरी, सात घायल

भिकियासैंण| तहसील मुख्यालय से दस किमी दूर जैनल स्याल्दे मोटर मार्ग पर अमरोली बैंड पर …

One comment

  1. AB ye pakde gye to jhut bol rhe h

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *