Monday , August 20 2018
Breaking News
Home / CNE Special

CNE Special

लता मंगेशकर के हास्पीटल के लिए शुभकामनाएं नहीं दी थी अटल जी ने

नई दिल्ली। अटल जी की पार्थिव देह अंतिम संस्कार की प्रतीक्षा में है, लेकिन उनके चरित्र, उनके भाषण और उनकी सच्ची बाते कभी भी हमसे दूर नहीं होंगी। उन्ळें श्रद्धांजलि देते हुए स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर ने एक वाकया सुनाया है, जिससे लगता है कि अटल जी हमेशा देशवासियों की …

Read More »

हमारी ऐतिहासिक घुमक्कड़ी: बिनसर वन्य जीव विहार ! इससे जुड़ा है प्राचीन इतिहास, कसारदेवी, गैराड़ मंदिर, जसुली देवी की धर्मशाला के भी दर्शन

— डाॅ. ललित चंद्र जोशी ‘योगी’ (गेस्ट प्रवक्ता, पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग, एसएसजे परिसर,अल्मोड़ा) की घुमक्कड़ी के माध्यम से हम पाठकों के समक्ष बार—बार आते हैं। हमारी यह यात्रा आगे भी जारी रहेगी। डॉ. ललित अपने धुमक्कड़ा साथी भुवन चंद्र जोशी के साथ इस बार भी एक यात्रा पर निकले और …

Read More »

अटल की तबीयत नासाज, मोदी पहुंचे देखने

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की हालत आज अचानक बिगड़ गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को एम्स में भर्ती अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने पहुंचे। उन्हें यूरिन इन्फेक्शन की शिकायत के चलते 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था। वे पिछले 9 साल से बीमार …

Read More »

लालकुआं: जब भूमिका गोस्वामी को डाक्टर बनाने के ऐलान के वक्त रो पड़े खिलाड़ी कुमार

लालकुआं। बिंदुखत्ता निवासी अशोक चक्र प्राप्त शहीद मोहननाथ गोस्वामी की बेटी भूमिका को उसकी इच्छा के अनुरूप डाक्टर बनाने का वायदा करने वाले फिल्म स्टार अक्षय कुमार शहीद गोस्वामी के बलिदान और बेटी की मासूमियत को देखकर रो पड़े। उन्होंने कैमरे की ओर पीठ करके अपनी भावनाएं दर्शकों से छिपाने …

Read More »

देश के लिए गांधी ही क्यों

रजनीश तपन यह सिर्फ तीन रंगों का संयोजन नहीं है। यह सृष्टि के निर्माण उसे संचालन और मानवता के विकास की निरंतरता के प्रतीक है। हम अपने राष्ट्र के इतिहास का गौरव आज याद कर रहे है। वर्तमान पर मुग्ध हो रहे हैं और भविष्य को लेकर अपनी चिंताएं व्यक्त …

Read More »

हमारी घुमक्कड़ी : नंदा राजजात के प्रथम पड़ाव के रूप में समृद्ध है ‘माला गाँव‘, ऐतिहासिक व सांस्कृतिक विरासत

माला गाँव से आप परिचित ही होंगे! यदि नहीं हैं, तो मैं आपको ले चलता हूँ एक ऐतिहासिक, सांस्कृतिक रूप से समृद्ध माला गाँव की ओर। इस घुमक्कड़ी में मेडिकल व्यवसाय से जुड़े भुवन जोशी जी और मैं शामिल रहे। यह गाँव सोमेश्वर से आगे पड़ता है। सोमेश्वर राजनीति गलियारों …

Read More »

हम घुमक्कड़ों की घुमक्कड़ी: आज सुनाते हैं चितई, लखुडियार, झांकरसेम की कुछ अनछुई आंखन देखी कहानी

धार्मिक पर्यटन को विकसित कर विकास की हो पहल इस बार घुमक्कड़ी विशेष रही। इस बार घुमक्कड़ के रूप में साहित्यसेवी श्री मनीनमन और मैंने उत्तराखंड के प्रसिद्ध मंदिरों में जाकर वहां के कई अनछुए पहलुओं पर अपनी दृष्टि केंद्रित की। हम दोनों का जन्म दिन एक ही दिन अर्थात् …

Read More »

घुमक्कड़ी : ऐतिहासिक कपिलेश्वर मंदिर की कहानी दो घुम्मकड़ों की जुबानी, मंदिर को पर्यटन के रूप में विकसित करने की दरकार

पहाड़ मनोरंजन के लिए नहीं हैं, पहाड़ घुमक्कड़ी का आनंद उठाने के लिए है। जहां हमें प्रकृति का संचालन मिलता है, जीवन का यथार्थ मिलता है, दर्शन मिलता है, जीवन मिलता है। कभी इन पहाड़ों को गौर से देखना, तो मिलेंगे नदी, धारे, पहाड़, वृक्षों की श्रृंखलाएँ। प्रकृति ने इन …

Read More »

हिंदी साहित्य जगत में हमेशा याद किये जायेंगे साहित्यकार स्व. बलवंत मनराल

ज़माना बड़े शौक़ से सुन रहा था हमीं सो गए दास्ताँ कहते कहते  ……पिता की मृत्यु नही होती, बल्कि वह अपने अंश अपने पुत्रों के रूप में जीवित रहता है। यह परंपरा सदियों से चली आयी है। वास्तव में जब पूज्य पिताजी को याद करता हूं आज भी आंखे नम हो उठती हैं। सत्य तो यह है …

Read More »

10 अगस्त, मनराल जयंती पर विशेष : ‘पहाड़ के एक अपराजेय साहित्यकार थे बलवंत मनराल’

आज 10 अगस्त अपराजेय साहित्यकार बलवंत मनराल की जन्मतिथि है। हिंदी के साठोत्तरी युग के सुप्रसिद्ध साहित्यकार उवं चर्चित कथाकार मनराल जी पक्षाघात के कारण अस्वस्थता की स्थिति में भी अपने जीवन के अंत तक अपनी कलम चलाते रहे। यहां मनराल जी को आत्मीयता से याद कर रहे हैं उनके …

Read More »
Creative News Express

FREE
VIEW